ये है विकास की नगर पालिका धनपुरी

मध्य प्रदेश के शहडोल के धनपुरी नगर पालिका की कहनी जहा विकाश के नाम पर लगा पैसे का वारायास काम तो कुछ और हुए पर विकाश किसी और का

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

जानिए कौन है नौसिखया ठेकेदार जो 7 लाख का किया ऐसा काम कि  संक्रमण बीमारी फैलने की आशंका 

शहडोल । जहा एक ओर कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए शासन प्रशासन हर संभव प्रयास कर रहे तो वही दूसरी ओर  धनपुरी नगरपालिका अंतर्गत पूर्व का वार्ड नं 15 और वर्तमान 17 मीट मार्केट में नौसिखया ठेकेदार द्वारा शासन के पैसो की  होली  खेलते हुए 7 लाख की लागत से ऐसा फार्सीकरण निर्माण किया है । जो तालाब में तब्दील हो गया है।  आलम ये है कि हल्की बारिश में भी उक्त स्थान में तालाब जैसे पानी भर जाता है। जिससे मीट मार्केट का गंदा रक्त युक्त पानी का भराव हो गया है । जिसके चलते  संक्रमण बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है ।

नौसिखया ठेकेदार ने शासन के पैसो की खेली होली

जिले के बहुचर्चित कुबेर की पालिका धनपुरी में इन दिनों नौसिखया ठेकेदारों की हुकूमत चल रही है । पालिका क्षेत्र के पूर्व का वार्ड नं 15 व वर्तमान के वार्ड नं 27 स्थित मीट मार्केट में नपा द्वारा माँ कंस्ट्रक्शन फर्म  के संचालक मोहन सोनी द्वारा एक माह पहले  7 लाख की लागत से समतलीकरण कर फार्सीकरण कार्य कराया गया । लेकिन शायद गलती से या अनुभव की कमी के चलते फार्सीकरण तलाबीकरण में तब्दील हो गया , तभी तो हल्की बारिश में भी उक्त नव निर्मित फार्सीकरण में तालाब जैसा पानी भर जाता है। नपा द्वारा 7 लाख रुपए खर्च कर देने के बाद भी उनकी मनसा पूरी नही हुई । जिससे अपरोक्ष रूप से ये कहा जा सकता है।  कि आम जनता शासन के पैसे की नौसिखखिया ठेकेदार साठ गांठ बना जमकर होली खेल रहे । जिसका रंग अभी से बहरने लगा है । उक्त क्षेत्र में पानी रक्त युक्त भरे रहने से संक्रमण बीमारी फैलने की वहां के लोगो ने आशंका व्यक्त किया है ।

गठन के बाद आनन फानन में कराए निर्माण कार्य बन रहे मुशीबत का शबब

 राजनीतिक उठापठक के बीच जहा सरकार बनाने और बचाने की कबायत में हर जोर आजमाइश की जा रही है । वही काँग्रेश की सरकार आते ही , नपा धनपुरी में मनोनीत अध्यक्ष व समिति के गठन के बाद से धनपुरी पालिका क्षेत्र में मानो निर्माण कार्य की बाढ़ सी आ गई  हो .....

जिसका नतीजा अब स्पष्ट रूप से देखने को मिलने लगे है । नव निर्मित निर्माण कार्य अभी से अपने आशू बहा अपनी दशा दर्शा रहे है । जिसका मीट मार्किट फार्सीकरण मात्र एक उदाहरण है । ऐसे कई निर्माण कार्य है जो अभी से अपना स्वरूप खोने लगे है ।

पहले से नही की तैयारी ,अब भुगतने की बारी

वही इस मामले में धनपुरी नगरपालिका में इंजीनियर के पद पर पदस्थ सिद्धार्थ ने जानकारी देते हुए बताया की 7 लाख की लागत से यह फार्सीकरण कराया है । रही बात पानी  भराव की तो पानी का निकासी नही होने की वजह से पानी भरा हुआ है । एमपीईबी द्वारा पानी निकासी की जगह नही देनेकी वजह से पानी निकासी नही हो रही है। साथ ही उन्हीने ठेकेदार का अभी तक भुगतान नही होने की भी बात कही है । तो इंजीनियर साहब 7 लाख के कार्य के पहले आपने  इस बात की तस्दीक पहले ही क्यों नही कर ली थी , की पानी का निकासी नही हो पा रहा , ऐसी क्या मजबूरी रही की आनन फानन में आपने आम जनता व शासन के पैसो के होली खेल लेने दिया । अब नाली निर्माण की बात कह रहे है।

धनपुरी बाजार की फोटो जहा दिखा विकास
Share To:

Post A Comment: