गहरी खाईयों और रास्तों को प्रशासन ने खड़े होकर जेसीबी मशीन से कराया बंद 

राजस्व और खनिज अधिकारी पहुँचे,पुलिस रही गायब, रेत खदान में दबने से हुई युवक की मौत का मामला

कलयुग की कलम (अंकित झारिया)

उमरियापान:- रेत निकालते समय खदान में मिट्टी की धाकौन धसकने से नीचे दबने पर एक युवक की मौत होने के बाद दूसरे दिन भी प्रशासनिक अमला घटना स्थल पर पहुँचा।  बुधवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे एसडीएम सपना त्रिपाठी, नायब तहसीलदार हरिसिंह धुर्वे व खनिज निरीक्षक वी के नागवंशी सहित राजस्व अमले के साथ मौका मुआयना करने के लिए घटना स्थल पर पहुँचे। प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पाया कि रेत माफियाओं के द्वारा रेत खनन के लिए गहरी गहरी कई खाइयां बनाई गई है। जहाँ कभी भी घटनाए हो सकती हैं। एसडीएम सपना त्रिपाठी ने ग्रामीणों से रेत माफियाओं की जानकारी जुटाई। ट्रैक्टर ट्रॉली कहा से आती हैं, रेत खनन कब होता है, इसकी पूरी जानकारी भी ली।एसडीएम ने अमले को रास्ता बंद करने और खाइयों के गड्ढे भरने को कहा है। नायब तहसीलदार हरिसिंह धुर्वे ने तत्काल जेसीबी मशीन बुलवाकर घुघरी गांव में बेलकुण्ड नदी किनारे बनी बड़ी गहरी खाइयों को खड़े होकर मौके पर समतल करने का कार्य शुरू कराया। साथ ही रेत माफियाओं द्वारा तीन दिशाओं से बनाये गए रास्तों को भी बंद कराया है। रेत का उत्खनन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने कहा है। बता दें कि उमरियापान थाना क्षेत्र के पचपेढ़ी निवासी राजू पिता चंद्रपाल पटेल 22 वर्ष मंगलवार दोपहर में घुघरी गांव में बेलकुण्ड नदी के घाट में बनी खदान से साथियों के साथ रेत निकाल रहा था।ऊपर से मिट्टी की धकौन धसकने से राजू खदान में दब गया।जिसकी मौके पर मौत हो गई।

सांसद प्रतिनिधि ने प्रशासन को ठहराया जिम्मेदार:-अधिकारियों के मौके पर पहुँचने की भनक लगते ही सांसद प्रतिनिधि पद्मेश गौतम,जिला उपाध्यक्ष राजेश चौरसिया, सरपंच प्रमोद गौतम सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुँच गए। इस दौरान सांसद प्रतिनिधि और सरपंच प्रमोद गौतम ने युवक की मौत का जिम्मेदार प्रशासन को ठहराया है। ग्रामीणों ने उमरियापान पुलिस की मिलीभगत से रेत खनन कराने का आरोप भी लगाया है। इस दौरान कार्रवाई के दौरान बुधवार को राजस्व अमला और खनिज निरीक्षक ही मौके पर पहुँचे।जबकि उमरियापान थाना प्रभारी गोविंद सुरैया सहित कोई भी पुलिस कर्मी घटना स्थल पर नही पहुँचा।

जांच कराकर करें कार्रवाई:- 

सांसद प्रतिनिधि पद्मेश गौतम ने कलेक्टर,एसपी को दी शिकायत में बताया कि बड़वारा विधानसभा क्षेत्र के गांवों में रेत उत्खनन पर रोक लगाने बीते 9 जनवरी को सांसद हिमान्द्री सिंह ने पत्राचार किया था। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा कार्रवाई नही की गई हैं। जिसके चलते बसाडी में एक व्यक्ति की मौत होने के बाद मंगलवार को उमरियापान के घुघरी गांव में खदान में दबने से एक युवक की मौत हुई है।

जबकि बीते दो साल पहले भी रेत निकालते हुए घुघरी में एक और युवक की मौत खदान धसकने से हो चुकी हैं। सांसद प्रतिनिधि ने कलेक्टर,एसपी से शिकायत करते हुए रेत उत्खनन के दौरान हुई मौत की जांच कराकर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने कहा है।

इनका कहना है:- बुधवार को हुई कार्रवाई संबंधी जानकारी के लिए खनिज निरीक्षक वी के नागवंशी से बात की गई तो वो जानकारी देने से बचते रहे और वहा से भाग निकले। वहीं एसडीएम सपना त्रिपाठी का कहना है कि जेसीबी मशीन लगाकर रेत माफियाओं द्वारा बनाई गई खाइयों और रास्तों को बंद कराया गया। अब रेत का उत्खनन किया तो माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।मृतक युवक के परिजनों को सहायता राशि दिलाई जाएगी।



Share To:

Post A Comment: