नहीं थी कोराना वायरस से पीड़ित  मृतक की रिपोर्ट से हुए खुलशा 

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल। इंडियन कॉउसिंल ऑफ मेडिकल रिसर्च और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च इन ट्रायवल हेल्थ द्वारा जारी की गई टेस्ट रिपोर्ट में शहडोल जिले के धनपुरी अंतर्गत वार्ड नंबर 24 में रहने वाली मृतिका दीपिका यादव के साथ ही उसके पति सुखराम यादव उम्र 45 वर्ष की कोविड-19 के संदर्भ में की गई जांच की रिपोर्ट भी निगेटिव ही आई है। हालाकि दोनों की 2019- एन कोविड की जांच निगेटिव आने के साथ इन दोनों के लिए गये सैंपलों की इन्फ्लूएंजा-ए एण्ड बी की भी जांच की गई थी, जिसमें महिला पॉजीटिव पाई गई थी और उसके पति सुखराम की यह रिपोर्ट भी निगेटिव ही आई है। यह टेस्ट आज 29 मार्च की शाम 5बजकर 30 मिनट पर आईसीएमआर द्वारा शहडोल जिला चिकित्सालय के लिए जारी की गई थी।

महिला की मौत

दीपा पाल पति पप्पू पाल पहले चचाई पावर प्लांट में कार्य करते थे जिनका ट्रांसफर सऊदी अरब के किसी पावर प्लांट में कर दिया गया था जो कि कोरोना वायरस फैलने के चलते भारत वापस अपने घर आया था,इस दौरान उनका एयरपोर्ट में भी जांच हुई थी,उसे उस समय भी कोई वॉयरस आदि नहीं था, लेकिन जब वह घर आया और फिर जबलपुर चला गया तो, उसके पीछे उसकी पत्नी की हालत बिगडऩे लगी, पति के अनुपस्थिति में महिला द्वारा धनपुरी के ही सुभाष चौक के समीप गौतम नामक चिकित्सक से इलाज कराया जा रहा था, जब हालत बिगड़ी तो, महिला व उसके पति को जिला अस्पताल के आइसिलेसन वार्ड में भर्ती किया गया था महिला को तेज बुखार के साथ सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जिसका इलाज जिला अस्पताल शहडोल में शनिवार को किया गया था, महिला व उसके पति का ब्लड सेम्पल जाँच के जबलपुर मेडिकल कालेज भेजा गया था , महिला की हालत ज्यादा बिगडऩे पर जबलपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया था, परंतु हालात खराब हो जाने के कारण महिला को बचाने में डॉक्टर नाकामयाब रहे, आज सुबह 4.30 बजे महिला की दर्दनाक मृत्यु हो गई, जबकि पति अभी भी जबलपुर में आईसोलेशन में है। कोरोना वॉयरस के संदिग्ध की जांच करवाने की खबर से ही शहर में दहशत का माहौल बना हुआ था, पुलिस के द्वारा क्षेत्र के 1 किलोमीटर के क्षेत्र को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कल ही सेनीटाइज भी कर दिया गया था। लेकिन दोनों की आई रिपोर्ट ने दहशत के आलम से अंचल वासियों को मुक्ति दिला दी।




Share To:

Post A Comment: