ग्रामीण क्षेत्रो में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करें- पार्थ जायसवाल

कोरोना वायसर संबंधी जिला टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न


अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल 13 मार्च 2020ः- कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल की उपस्थिति में कोरोना वायरस सम्बंधी जिला टास्क फोर्स की बैठक आयोजित हुई है। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने कोरोना वायरस से बचाव के लिये किये जा रहे प्रयासो की जानकारी ली। बैठक मंे मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने निर्देश दिए कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व की अध्यक्षता मंे ब्लाॅक स्तरीय ब्लाक टास्क फोर्स की बैठक की जायें, जिससे सभी कोरोना वायरस संक्रमण एवं बचाव के तरीको से परिचित हो सकें। उन्होंने कहा कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी उमरिया यदि अपने यहाॅ मरीजो को सस्पेक्टेड़ कोरोना के मरीज समझते है तो उन्हें सीधे जबलपुर रिफर करें तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अनूपपुर अपने सस्पेक्टेड़ कोरोना मरीजो को शहडोल के माध्यम जबलपुर भिजवाना सुनिश्चित करें। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शहडोल को निर्देशित कि ड्राग इस्पेक्टर के माध्यम से यह सुनिश्चित करें कि जिले के मेडिकल षाॅप कोरोना वायरस से संबंधित दवाईयों, मास्क, सिनेटाइजर आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित रखें। इसी प्रकार जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थाओं मंे भी उपरोक्त व्यवस्था सुनिश्चित की जायें। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शहडोल  को निर्देशित किया कि जिले प्राईवेट नर्सिंग होमो से साप्ताहिक रिपोर्ट भी मॅगाना सुनिश्चित करें तथा उन्हंे निर्देशित करें कि जिन प्राइवेट नर्सिंग होमो मंे जहाॅ वैटिलेटर की सुविधाएॅ है। उन्हें आवश्यता पड़ने पर पूर्णतः तैयार रखें। मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए कि 31 मार्च 2020 तक किसी प्रकार की मीटिंग, गेदरिंग आदि न की जायें।

बैठक मंे मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल ने यह भी निर्देश दिए कि सभी नगर पालिकाओं की कचरा गाॅडियों में कोरोना वायरस के संबंध मंे बचाव के तरीके प्रसारित किए जाएॅ। इसी प्रकार सभी खण्ड़ चिकित्सा अधिकारी अपने स्तर से नारांकन, फ्लैक्स आदि के माध्यम से कोरोना वायरस संबंधी प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करें। 

बैठक मंे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि सावधानियां बरतें। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के किसी व्यक्ति में लक्षण पाए जाने पर टोल फ्री नम्बर 104 पर सूचना दें। उन्होंने बताया कि जिले मंे डाॅ0 गंगेश टाण्ंिड़या को नोड़ल अधिकारी बनाया गया है। इसी प्रकार जिले मंे जिला एवं ब्लाक स्तरीय रेपिड़ एक्सन टीम बनायी गई है। कोरोना वायरस संक्रमण के संबंध मंे स्वास्थ्य संस्थाओं मंे ओपीड़ी मंे खांसी, सर्दी के मरीजो की अलग से पंजीकरण किया जा रहा है एवं जिला अस्पताल मंे कोरोना वायरस वार्ड अलग से बनाया गया है, जिसमंे संभवित मरीजो की आईसुलेशन कर अलग से उपचार किया जा सकंे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने सभी चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ को निर्देशित किया कि खासी, सर्दीे के मरीजो का उपचार करते हुए स्वयं ही युरक्षित रहें एवं मास्क आदि का उपयोग करें तथा स्वास्थ्य संस्थाओं मंे सेनेट्राईजर द्वारा प्रतिदिन 2 से 3 बार पोछा आदि लगवायंे। 

टास्क फोर्स की बैठक मंे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण बुखार आना, सिरदर्द, नाक बहना, जुकाम, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, गले में खराश, सीने में जकड़न हो सकती है। इन लक्षणों को नजर अंदाज न करें बल्कि तुरंत मास्क पहनें और तत्काल चिकित्सा सुविधा लें। नोवल कोरोना वायरस से डरने की आवश्यकता नहीं है, बल्कि सावधानियां बरतना जरूरी है। आपकी सावधानी से न केवल आप बल्कि और लोग भी इससे बचेंगे। कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ है। प्रदेश सरकार एवं जिला प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस से बचाव हेतु प्रभावी उपाय किए जा रहे हैं। 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने भी जिले में कोरोना वायरस से बचाव हेतु सावधानी बरतने की अपील जनमानस से की है। उन्होंने कहा है कि खुद को और दूसरों को बीमार होने से बचाने हेतु आवश्यक सावधानियां बरतें। 

 कोरोना वायरस के लक्षण

o बुखार आना, सिरदर्द ।

o नाक बहना, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ ।

o खांसी, गले में खराश ।

o सीने में जकड़न ।

कोरोना वायरस से बचाव हेतु उपाय

o कोरोना वायरस से बचने के लिये संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें। 

o नियमित रूप से दिन में कई बार हाथों को साबुन एवं साफ पानी से धोएं। 

o बिना हाथ धोए अपनी आंख, मुंह एवं नाक को न छुएं। 

o संक्रामक सामग्रियों के संपर्क में आने के बाद आंख या नाक छूने से बचें। 

o छींकते और खांसते समय नाक और मुंह को ढंकें। 

o हाथ मिलाने के बजाए नमस्ते करें । 

o खुले एवं असुरक्षित खाद्य पदार्थों का सेवन न करें। 

o जिस व्यक्ति को खांसी, जुकाम या बुखार के लक्षण हों उससे दूरी बनाए रखें। 

वायरस कैसे फैलता है

o संक्रामक व्यक्ति के खुली जगह में छींकने व खांसने से । 

o संक्रामक व्यक्ति से हाथ मिलाने, गले लगने से । 

o संक्रामक जगह के संपर्क में आने के बाद बिना हाथ धोए अपनी आंख, मुंह एवं नाक को छूने से। 

बैठक में मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ0 मिलिन्द शिलारकर, अपर कलेक्टर श्री अशोक ओहरी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री प्रतिमा एस. मैथ्यू, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ओ0पी0 चैधरी, सिविल सर्जन जिला अस्पताल डाॅ0 व्ही0एस0 बारिया सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Share To:

Post A Comment: