अखबारो से नहीं फैलता कोरोना वायरस दूध जितना ही  सुरक्षित है कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार  पत्रिका 

कलयुग की कलम हरदा 

जिनवानिया!!  कोरोना वायरस के संकमण ने एक  बहुत बड़ी चुनौती पेश कर दी है इस चुनौती से पार पाने मैं दैनिक पत्रिका भी आपके साथ है किसी को भी डरने या घबराने की जरूरत नहीं लेकिन साफ सफाई के साथ सेहत के  प्रति अतिरिक्त  सावधानी बरतने की आवश्यकता बढ़ गई है यह भी जरूरी है कि भीड़ भाड़ से बचे और अफवाहो पर ध्यान ना दे दैनिक पत्रिका आपके स्वास्थ्य को लेकर उतना ही सजग है जितना आप खुद पाठकों के  प्रति अपने नैतिक  दायित्व के तहत हम अखबार के  प्रकाशन से लेकर उसे आपके घर  पहुंचाने तक की पूरी   प्रक्रिया में इस बात का अतिरिक्त ध्यान रख रहे कि वह हर तरह से  सुरक्षित रहे अखबार के  सुरक्षित प्रकाशन  और वितरण में हम स्वास्थ्य के सभी जरूरी और शांति उच्च मांपदडो का पालन सुनिश्चित कर रहे हैं  अखबार छापने की  प्रक्रिया अॉटोमेटिक है और इसे जिस वातावरण मे  प्रकाशित किया जाता है वह पूरी तरह सैनिटाइज हैं इसके अतिरिक्त हमारे वितरक यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि जो  कर्म योगी आपके घरो तक अखबार पहुंचाते है वह भी सैनिटाइज हो यह कदम हमने अपने वितरको और   कर्म योगियों के साथ साथ आपके स्वास्थ्य की  रक्षा को ध्यान में रखकर ही उठाया है इंडियन काउंसलिंग आफ मेडिकल  रिसर्च के अनुसार आप हमारे देश में कोनोना वायरस का संकमण दूसरे दौर में है इसमें खतरा केवल इस वायरस से संकमित व्यक्ति अथवा उसके सीधे  संपर्क में आने वालो से ही है इस कारण हमारा देश संकमण के व्यापक फैला वाले तीसरे दौर से बचा हुआ है जिन देशो में कोरोना वायरस का संकमण तीसरे दौर में पहुँच गया है यानी सामुदायिक स्तर पर फैल गया है!  आपका अखबार भी दूध जितना ही सुरक्षित हैं!

Share To:

Post A Comment: