ग्राम पंचायत का यात्री प्रतीक्षालय जिसका सुविधा ग्राम वाशी नहीं कर पा रहे उपयोग

सचिव अरुण खुद को समझता है सोहागपुर जनपद का बोस ग्राम पंचायतो में जम के कर रहा धाँधली ....

अविनाश शर्मा/शहडोल मध्य प्रदेश

6261959407

प्रदेश की कमलनाथ सरकार जहां  प्रदेश को अपराध और भट्राचार मुक्त राज्य बनाने का प्रयास कर रही है वहीं जिले से लेकर ग्राम पंचायतो  मे हो रही भ्रष्टाचारी किसी से छिपा नही है ताजा मामला शहडोल जिले में जनपद पंचायत सोहागपुर के ग्राम पंचायत खन्नाथ का हैैजहां का सचिव अरुण खुद को सोहागपुर जनपद पंचायत का बोस समझता है|                  

शहडोल|जनपद पंचायत सोहागपुर के ग्राम पंचायत  खन्नाथ का सचिव हमेशा विवादों में रहता मेन कारण    है भ्रष्टाचारी सचिव अरुण अपनी मर्जी का मालिक समझता है |ग्राम पंचायत सचिव खन्नाथ अरुण का नया कारनाम सामने आया है जहां बिना परिमिशन के काम चालू कर पैसा  निकाल लिया गया और और भी  एैसे कई करनामे है  जो जांच में पता चल सकता है फिर  चाहे आवास योजना का स्वच्छ भारत अभियान की कोई योजना हो सब में जम के भ्रष्टचार किया गया है |

 जनपद पंचायत के  चाहते सचिव अरुण 

सचिव अरुण पहले ग्राम पंचायत सरईकापा मे सचिव के पद पर था जहां जम के भ्रष्ट्राचारी किया जब ये बात गांव के कुछ लोगे  को लगी वो भी धीरे -धीरे सचिव अरुण से जुडे और लाखो रुपये कमाये वहीं अरुण के क्या कहने बडे लोगो से पहचान बना हाथी सा फुल गया |जनपद पंचायत सोहागपुर के अधा से ज्यादा पंचायतों अपनी साख बना बैठा चाहे कोई भी अधिकारी हो  या सचिव हो अरुण  तुरन्त अपनी सेटिंग बना लेता है चाहे ग्राम पंचायत धनौरा तुम्मिबार खोह बन्डी हरदी हो या ग्राम पंचायत सरईकापा खन्नाथ हो इन सब जगह इसकी ही हुकूमत व देख- रेख़ में लाखो का धाधली होती हैं | वहीं सरईकाप की सचिव तो अरुन के हाथ की कठपुटली बन कर नाचती है  धडल्ले से चल रहा शासकीय लाखों रुपयो मे धाँधली 

 कागज के काम पूरा जमीन में अधूरा 

सचिव अरुण के द्वारा कई दुकान द्वारा वा अपने चहेतों ठेकेदार द्वारा  पूरा काम मन मुताबिक करा लिया जाता है जनपद पंचायत के हर ग्राम जहां भी देखिए चाहे कोई भी ग्राम पंचायत हो इन्हीं की हुकूमत चलती है और जम के भ्रष्ट्राचार किया जाता है इनके कुछ चाहते सचिव द्वारा भ्रष्ट्राचार कर हिसाब किताब का जिम्मा भी इन्हीं के ऊपर है कब किस को कितना देना है ये तो हांथी सा फुला सचिव अरुण ही बतायेगा 

कैसे खुली सचिव अरुण के भ्रष्ट्राचार की पोल

कुछ दिन पहले खन्नाथ में बने एक पुल की कहनी में जम के भ्रष्ट्राचार किया गया जम के अनिमित्ता पाई गई जहां बिना परमिशन के काम चालू कर लिया गया और पैसा भी  निकाल लिया गया जब पूरी कहनी जनपद पंचायत में बैठे आला अधिकारियों को लगी तब आनन -फानन मे जनपद पंचायत सीईओ ने जांच के आदेश दे डाले वहीं पाया गया सही पुल का निर्माण नहीं कराया गया  जहा पे काम को रोक के दुबारा पुल सही निर्माण करने को कहा गया है अब देखना है की सचिव अरुण क्या जुगाड लगता है  इस बार क्या भ्रष्ट्राचार की यह कहनी कहा तक पहुंचती है 

आप के माध्यम से मुझे जानकारी मिली है मैंने जांच के आदेश दे दिए है और जनपद उपयंत्री  मौके पर भेज के काम की जानकारी ली जा रही है |

जनपद पंचायत सीईओ(सोहागपुर)

               ममता मिश्रा जी

सचिव अरुण मिश्रा
Share To:

Post A Comment: