राज्य महिला आयोग  सदस्य ने सुनी पीड़ित महिलाओं की समस्यायें


KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

महिलाओं से सम्बन्धित लम्बित प्रकरणों को त्वरित निस्तारित करने के  सदस्य राज्य महिला आयोग ने दिये सख्त निर्देश

महिला जनसुनवाई में एक दर्जन से अधिक मामले सुनवाई के लिए आये, कई प्रकरणों का मौके पर किया गया निस्तारण

04 मार्च, 2020 प्रयागराज।

उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग द्वारा प्रदेश में महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीडित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने तथा आवेदक आवेदिकाओं की सुगमता की दृष्टि से सर्किट हाऊस, प्रयागराज में महिला जन सुनवाई समीक्षा बैठक  अनीता सचान  सदस्य राज्य महिला आयोग उत्तर प्रदेश की अध्यक्षता मे की गयी। मा. सदस्य ने महिला जन सुनवाई में आयी पीड़ित महिलाओं की शिकायती प्रार्थना पत्रों को देखा। उन्होंने पीडित महिलाओं से बारी-बारी से उनकी समस्याओं को सुना तथा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रकरण को प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए निस्तारित किया जाय। महिला जन सुनवाई में पीड़ित महिलाओं ने अपनी समस्याओं को मा. सदस्य, राज्य महिला आयोग के समक्ष रखी। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि महिला उत्पीड़न से सम्बन्धित प्रकरण को लम्बित न रखा जाय बल्कि उसका मौके पर जाकर त्वरित निस्तारण की कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाय।

जनसुनवाई में अपनी शिकायत लेकर आयी हुई प्रिया केसरवानी पुत्री बृजलाल केसरवानी पत्नी अभिषेक निवासी इदलपुर नैनी ने घरेलू हिंसा की शिकायत की, जिसपर  सदस्य ने जांच के निर्देश दिए। लक्ष्मी गुप्ता निवासी मंगला देवी स्मारक डिग्री कालेज नैनी प्रयागराज ने मानसिक शोषण की शिकायत की, जिसपर  सदस्य ने जांच कर मामले को निस्तारित करने के निर्देश दिए। निधि मिश्रा पत्नी पवन मिश्रा निवासी मुट्ठीगंज, प्रयागराज ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ प्रताड़ित करने की शिकायत की, जिसपर  सदस्य ने सम्बन्धित थाने के अधिकारियों को मामले की जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार मंजू भारद्वाज निवासी मिंटो रोड, सिविल लाइन प्रयागराज ने दहेज उत्पीड़न की शिकायत की, जिसपर  सदस्य ने सम्बन्धित थानें के अधिकारियों से जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जनसुनवाई में आये हुए प्रकरणों में कुछ प्रकरणों में सम्बन्धित थानों द्वारा एफआईआर न दर्ज करने पर नाराजगी जतायी। इंडियन गल्र्स इण्टर कालेज, प्रयागराज के प्रबन्धक, कार्यवाहक प्रधानाचार्य के विरूद्ध शिकायत आने के सम्बन्ध में  सदस्य ने कहां कि वे स्वयं मौके पर जाकर प्रकरण की वास्तविक स्थिति से अवगत होगी। महिला जन सुनवाई में कुल एक दर्जन से अधिक प्रकरण सुनवाई के लिए आयें, जिनमें से कुछ प्रकरणों का मौके पर ही निस्तारण सुनिश्चित कराया गया।

महिला आयोग की जनसुनवाई में जिला प्रोबेशन अधिकारी  पंकज मिश्रा सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।

पुष्प प्रदर्शनी में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों को मण्डलायुक्त ने किया पुरस्कृत

चन्द्रशेखर आजाद पार्क में आयोजित मण्डलीय फल, शाक-भाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी 2020 के दूसरे दिन मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने पुष्प प्रदर्शनी में प्रतिभाग करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया।

01 अप्रैल से सभी विद्वान अधिवक्तागण को अपने वकालतनामे के साथ एडवोकेट्स रोल नम्बर देना होगा अनिवार्य

जिला प्रयागराज जिला न्यायालय इलाहाबाद के सभी विद्वान अधिवक्तागण को सूचित किया जाता है कि माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा जन हित याचिका संख्या-2436/2019 इन री बनाम उत्तर प्रदेश राज्य में दिनांक 03.03.2020 को आदेश पारित करते हुये दिनांक 01 अप्रैल, 2020 से सभी विद्वान अधिवक्तागण को अपने वकालतनामे के साथ एडवोकेट्स रोल नम्बर देना अनिवार्य कर दिया गया है। माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों के कम में किसी भी विद्वान अधिवक्ता का वकालतनामा जिला अदालत द्वारा दिनांक 01.04 2020 से एडवोकेट्स रोल नम्बर का अभाव में स्वीकार किया जाना सम्भव नहीं होगा।

माननीय उच्च न्यायालय द्वारा उक्त जन हित याचिका में यह भी आदेशित किया गया है कि जिस किसी विद्वान अधिवक्ता द्वारा अपना अधिवक्ता रोल नम्बर नहीं बनवाया जायेगा, उन्हें जिला न्यायालय परिसर में प्रवेश नहीं दिया जायेगा। साथ ही पंजीकृत मुंशियों का रजिस्ट्रेशन भी आवश्यक है।

यदि किसी विद्वान अधिवक्ता द्वारा निर्धारित अवधि में नियत फार्म की सभी औपचारिकतायें पूर्ण कर जिला न्यायाधीश के कार्यालय में प्रस्तुत नहीं की जाती है और उनको एडवोकेट रोल नम्बर पहचान पत्र उपलब्ध नहीं होता है तब उस स्थिति में वह विद्वान अधिवक्ता स्वयं उत्तरदायी होंगे।

पूर्ण प्रपत्र दिनांक 13.03.2020 तक प्रस्तुत किये जा सकेंगे जिसके साथ अंकन  एक सौ रूपये शुल्क भी माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों के कम में प्रत्येक विद्वान अधिवक्ता व विद्वान अधिवक्ता के लिपिक को अलग-अलग अदा करना होगा। एक विद्वान अधिवक्ता के साथ केवल अधिक से अधिक दो लिपिक पंजीकत हो सकते हैं।

प्रार्थनापत्र के साथ आधार कार्ड, राज्य विधिज्ञ परिषद उत्तर प्रदेश का पंजीकरण प्रमाणपत्र, जिला अधिवक्ता संघ इलाहाबाद का पहचान पत्र, वाहन पंजीयन प्रमाणपत्र,एल.एल.बी. के अन्तिम वर्ष का अंकपत्र एवं डिग्री एवं दो फोटो पासपोर्ट साइज को प्रस्तुत करना आवश्यक है। दस्तावेज की स्वप्रमाणित प्रति प्रस्तुत की जानी आवश्यक है।

राजकीय आई0टी0आई0 के तत्वावधान में रोजगार मेले का किया गया आयोजन

रोजगार मेले में 155 अभ्यर्थियों का किया गया चयन

विश्वविद्यालय सूचना एवं मंत्रणा केन्द्र, प्रयागराज द्वारा दिनांक 04.03.2020 को राजकीय आई0टी0आई0, कटरा, प्रयागराज के तत्वावधान में एक रोजगार मेले का आयोजन किया गया । जिसमें उप निदेशक सेवायोजन, क्षेत्रीय रोजगार विकास कार्यालय, प्रयागराज, संयुक्त निदेशक, रा0औ0प्र0संस्थान, प्रयागराज, उप निदेशक, पिछड़ा वर्ग, प्रयागराज मण्डल, प्रयागराज, प्रधानाचार्य, रा0औ0प्र0सं0, प्रयागराज, जिला सेवायोजन अधिकारी, प्रयागराज प्रतापगढ़ कौशाम्बी आदि उपस्थित रहे ।

इस रोजगार मेले में निजी क्षेत्र की कम्पनी ”पुखराज हेल्थकेयर प्रा0लि0“, ”जी 4 एस सिक्योर साल्यूशन इण्डिया प्रा0लि0“, ”आर0पी0 इंफ्रास्ट्रक्चर कान्ट्रशन कम्पनी प्रा0लि0“ आदि द्वारा अभ्यर्थियों  का चयन किया गया । इस प्रकार रोजगार मेले में कुल 155 अभ्यर्थियों का चयन किया गया। रोजगार मेले में कुल 650 अभ्यर्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया । कार्यक्रम को सफल बनाने में संस्थान/कार्यालय के कर्मचारियों ने सक्रिय योगदान दिया।





Share To:

Post A Comment: