3 मई तक किसी प्रकार की अतिरिक्त ढील नही दी जाएगी

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल -   कोरोना वायरस संक्रमण (कोविड-19)  के द्वारा उत्पन्न स्थितियों एवं व्यवस्थाओं तथा संक्रमण को रोकने के लिए किये जा रहे  बचाव संबंधी विभिन्न पहूलओं के मददेनजर आज कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट की अगुआई में कलेक्टेªट सभागार मंे बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में शहडोल संसदीय क्षेत्र की सांसद श्रीमती हिमांद्री सिंह, विधायक जयसिंहनगर श्री जयसिंह मरावी, ब्यौहारी श्री शरद कोल, अधिष्ठाता चिकित्सा महाविघालय शहडोल डाॅ. मिलिंद शिरालकर, पुलिस अधीक्षक श्री सतेन्द्र कुमार शुक्ल, नगरपालिका शहडोल अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला कटारे, नगरपंचायत  बुढ़ार के अध्यक्ष श्री कैलाश विश्नामी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर द्वय श्री अशोक ओहरी, श्री मिलिंद नागदेवे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 ओ.पी. चैधरी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री अजय श्रीवास्तव, डाॅ. मदन त्रिपाठी, श्री इन्द्रजीत छाबडा, श्री आजाद बहादुर सिंह, डाॅ. वाल्मीक गौतम, श्री राजेश गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण  एवं  विभिन्न संस्थान संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित थें

बैठक में कलेक्टर डाॅ. सिंह ने जानकारी दी कि लाॅकडाउन के दौरान पूर्व के आदेशों में दी गई ढील के तहत स्वास्थ्य सुविधाएं ,कृषि क्षेत्र से संबंधित कार्य अतिआवश्यक सेवाएं, पशुपालन, ग्रामीण क्षेेत्रों की दुकाने, डोर-डू-डोर, गैस, दूध, सब्जी एवं किराना पहुचाने का कार्य ग्रामीण क्षेत्रांे मे मनरेगा के कार्य, मुख्य मार्गांे में अतिआवश्यक सेवाओं के परिवहन हेतु ट्रकों की मरम्मत, विघुत पार्ट की दुकानें, पंचर दुकाने इत्यादि अन्य अत्यावश्यक सेवाओं को शामिल किया गया था। बैठक में आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यगणों ने विभिन्न पहूलओं पर गहन विचार-विमर्श किया तथा अपने-अपने विचारों को समिति के समक्ष रखा। बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि आगामी 3 मई 2020 तक केन्द्रशासन द्वारा जारी लाॅकडाउन की अवधि में जो व्यवस्थाएं पूर्व से संचालित है उन्हें बरकरार रखा जाए तथा उक्त अवधि तक किसी प्रकार की अन्य नवीन ढील न दी जाए जिससे शहडोल जिला संक्रमण से मुक्त  बना रहे।

बैठक में कलेक्टर डाॅ. सिंह ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में हार्ट बाजार, पशुमेला अथवा भीड़-भाड़ उत्पन्न होनी वाली सभी गतिविधियों को कड़ाई से प्रतिबंधित किया गया है । जिले में धारा 144 बरकरार है तथा लाॅकडाउन के नियमों की अवहेलना पाए जाने पर सख्त कार्यवाही भी की जा रही है। उन्होने बताया कि जिले मंे बाहर से मजदूर आदि के वापस लाने हेतु विभिन्न स्थानो में 3500 लोगों के लिए ठहराने, भोजन, जांच इत्यादि व्यवस्था के इंतेजाम किये गए है तथा आवष्यता पडने पर और व्यवस्थाएं सुलभ करा ली जाएगी । उन्हेाने कहा कि जिले के बाहर के लोगों को जो जिले से होकर गुजर रहे है उनकी भी चिकित्सकीय परीक्षण, भोजन आदि की व्यवस्थाएं की जारही है। उन्होने  जिले के नगरपालिका अधिकारियों केा निर्देशित किया कि वे अपने वार्डाें में साफ-सफाई, मच्छरमार धुआं, सेनेटाईजर तथा मास्क इत्यादि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करें इसी प्रकार  बाहर से आने वाले टेªकों जिनमें सब्जी अथवा ओरियंट पेपर मील या कोयले के ट्रक शामिल है उनके चालको, परिचालको को अन्यत्र न घुमने दिया जाए और उनका परीक्षण आदि समुचित रूप से कराया जाए। बैठक में कलेक्टर ने यह भी बताया कि जिले के सभी बार्डरों में 2-2 बसों को लगाकर बाहर से आने वाले लोगों को जिले के अन्त के बार्डर तक छोड़ने की व्यवस्था कराई जाएगी जिससे हमारे जिले में किसी भी व्यक्ति के प्रवेश करने पर उन्हें दिक्कतें न उठानी पड़े साथ ही उनका विधिवत स्वास्थ्य परीक्षण कराकर मास्क, सेनेटाईजर एवं भोजन की भी व्यवस्था सुनिश्चित की जारही है। बैठक में अन्य विभिन्न मुदों पर विस्तार से चर्चा हुई तथा सभी जनप्रतिनिधियों को उनके क्षेत्रों में बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी एकत्रित कर उनका चिकित्सकीय परीक्षण कराने एवं जिला प्रशासन को सूचित करने के लिए भी कहा गया। बैठक में बेघरवार लोगों के राशन व्यवस्था हेतु वार्ड पार्षदों को उनके चिन्हाकन कर परीक्षण उपरांत सूची तत्काल नगरपालिका परिसर को सौंपने के निर्देश कलेक्टर ने दिए।



Share To:

Post A Comment: