अजय विश्नोई जी का सम्पूर्ण महकोशल व संस्कारधानी जबलपुर शहर के प्रति जिम्मेदारी, समर्पण और सेवाभाव न सिर्फ़ अन्य राजनीतिज्ञयो से अलगऔर अनूठा है वरन् वन्दनीय है एवं जनमानस को एवं युवा कार्यकर्ताओं को प्रेरणा देने वाला हे ।

जनता के प्रति  कर्तव्यपरायणता, जिम्मेदारी, सेवा, समर्पण और मदद का जज्बा और उसे मूर्त रूप देने में श्री अजय विश्नोई से मीलों पीछे है जबलपुर महकौशल व प्रदेश के पक्ष और विपक्ष के कई कद्दावर नेता! 

जंहाँ covid 19- कोरोना जेसी महामारी से बचाव के लिए शहर व गाँवो में लॉक डाउन के चलते जहा कई राजनीतिक पार्टियों के  वरिष्ठ और कनिष्ठ नेता व जनप्रतिनिधियों ने अपने आपको अपने घरों में लॉक डाउन कर रखा है! वहीं अजय विश्नोई  न सिर्फ जिला प्रशासन और मेडिकल स्टाफ के साथ कदम से कदम मिलाकर मार्गदर्शन दे रहे हैं! वरन उनका सम्मान और उत्साहवर्धन भी उनके कार्यस्थल पर जाकर स्वयं और जबलपुर शहर के एवं पाटन कटंगी मंझोली के सभी वरिष्ठ व युवा साथियों को भी साथ में ले जाकर कर रहे हैं!

गरीब बस्तियों में कोई भूखा न रहे उसके लिए अनाज वितरण की जिम्मेदारी सबसे पहले अपनी विधानसभा से ही शुरुआत की थी! और आज भी उनकी अपनी विधानसभा में ही नहीं अपितु पूरे जबलपुर शहर में कई जगह से उनके नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओ और अन्य जनप्रतिनिधियों व सामाजिक संस्थाओ  के द्वारा कई भोजन शालाओं में भोजन के पेकट बनवा कर शहर में एवं गाँवों में 10 kg आटा - 3 kg चावल के पेकट जरूरतमंदो मे वितरित किए जा रहे हैं! अजय विश्नोई जिस जिम्मेदारी, विनम्रता और मुसतैदी से अस्पतालो, भोजनशालो और क्वारेनटीन सेंटर का निरीक्षण कर रहे हें और वहां उपस्थित स्टाफ का उत्साहवर्धन कर रहे हैं एवं ग्रामीण अस्पतालों में डॉक्टरों व सेनेटाइसर - मास्क - किट एवं अन्य ज़रूरी सामग्री की पूर्ति करवा रहे हें। 

पाटन मझौली कटंगी विधानसभा के शासकीय अस्पतालों को मिले 8 नए डॉक्टर्स की पोस्टिंग कराई । विगत 5 सालो में ग्रामीण अस्पतालों  से अनेक डॉक्टर चले गए। अस्पताल की दुर्दशा देखते हुए आज के  इस दौर में जब गाँव गाँव कारोना से लड़ने के डाक्टरों की कमी हो रही थी तब अजय विश्नोई जी ने मझौली के सरकारी अस्पताल के लिए 4 नए MBBS डॉक्टर, सिहोरा के लिए 2 और पाटन-कटंगी के लिए एक-एक डॉक्टर की पोस्टिंग करवाई है। ये सभी डॉक्टर्स ने सोमवार से काम शुरू कर दिया हे ।

अजय विश्नोई जी ने रेडक्रास सोसायटी की मदद की शुरुआत करते हुए अपने व्यक्तिगत खाते  से 2.5 लाख रुपये की सहियोग राशि दी तो अपने लोकप्रिय नेता का अनुसरण करते हुए क्षेत्र के अन्य सामाजिक संस्थाओ एवं मंदिरो  ने भी रेडक्रास में 9 लाख अनुदान दिया जिससे महामारी से लड़ने में अवश्य सहयोग होगा । 

वो अपने आप में न सिर्फ काबिले तारीफ है वरन्  उनका जबलपुर के प्रति सेवा भावी और शहर के लोगो के प्रति आत्मीय अनुराग दूसरे जन प्रतिनिधियों से सर्वथा अलग स्थान पर रखता है!





Share To:

Post A Comment: