मरीजो के इलाज में चिकित्सक कोरोना बचाव नियमो का पालन करें- कलेक्टर

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लिनिक संचालकों की बैठक सम्पन्न

शहडोल - जिले में कोरोना वायरस (कोविड़-19) के रोकथाम के संबंध में  आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डाॅ. सतेन्द्र सिंह की अगुवाई में जिले के प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लीनिक संचालको की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में अपर कलेक्टर श्री अशोक ओहरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 ओ0पी0 चैधरी, सिविल सर्जन डाॅ. व्ही.एस. वारिया, पूर्व सिविल सर्जन डाॅ. एस.सी. त्रिपाठी, डॅा. पी. थारवानी, डाॅ. एस थारवानी, डाॅ. सम्पूर्णानंद दुबे, डाॅ. सत्तेश विशनदशानी, डॅा. साकेत सराफ, डाॅ. दीपक पाल, डॅा. पवन मूदड़ा, डीसीएम श्री रामगोपाल गुप्ता सहित जिले के अन्य प्रायवेट नर्सिंग होमो एवं क्लिनिको के संचालक उपस्थित थे।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि प्रायवेट क्लीनिक एवं नर्सिंग होम में किसी प्रकार की वंदिश नही है, आवश्यकता इस बात की है कि संचालक कोरोना वायरस रोकथाम के संबंध मंे आवश्यक नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग मास्क, सेनेटायजर का उपयोग खुद करते हुए मरीजो को भी इस हेतु समझाइस भी देंवे तथा संभावित कोरोना मरीजो की जानकारी पृथक से भी दें। कलेक्टर ने कहा कि लाॅक डाउन-2 में सुबह एवं शाम की सैर न किया जायें और अनावश्यक शहर का भ्रमण कोई भी न करंे। कलेक्टर ने बैठक में बताया कि जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण के संभावित मरीजो के लिए 100 विस्तरीय वेड़ों की व्यवस्था की गई है साथ ही जिले में 5 वैन्टिलेटर की भी व्यवस्था की गई है। जिले में कोरोना वायरस रोकथाम के संबंध में शासन स्तर पर सभी व्यवस्थाएॅ सुनिश्चित कर ली गई है। चिकित्सको के सहयोग से विश्वास है कि जिले में कोरोना वायरस संक्रमण में हमारा जिला पूर्णतः सुरक्षित हो सकेगा। जिला चिकित्सालय में कोरोना वायरस (कोविड़-19) एम्बूलेंस व्यवस्था भी है। सभी प्रायबेट नर्सिंग होम के संचालक एवं क्लीनिक संचालक यदि कोई संभावित मरीज कोरोना संक्रमण से पाते है तो उसकी सूचना सिविल सर्जन को तत्काल दें, ताकि मरीज के लाने ले जाने की व्यवस्था हेतु एम्बूलेंस उपलब्ध कराई जा सकें। कलेक्टर ने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रायवेट नर्सिंग होम एवं क्लिनिक संचालको के जरूरत के हिसाब से शासकीय दर पर सेनेटायजर उपलब्ध कराएॅ।

बैठक में कलेक्टर ने सभी संचालको से कहा कि जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए जो भी आवश्यक उपकरण या सुविधाएॅ आदि की जरूरत उपयोगी मानते है तो उसकी सूची सिविल सर्जन को उपलब्ध करावें, ताकि जिला चिकित्सालय में और व्यवस्थाएॅ सुनिश्चित की जा सकें। कलेक्टर ने बताया कि जिले में 3 एम्बूलेंश की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जा रही है। जिसमें एक एम्बूलेंश जिला चिकित्सालय, एक-एक बुढ़ार एवं ब्यौहारी अस्पताल में उपलब्ध करायी जा रही है।


Share To:

Post A Comment: