सागर से काम कर पैदल चलकर वापस जा रहे थे शहडोल- उमरिया,बीच रास्ते मे नायब तहसीलदार ने किया मदद

"कलयुग की कलम" महेंद्र सिंह पटेल

उमरियापान:- कोरोना वायरस के बाद हुए लॉकडाउन से लोगों की परेशानियां बढ़ गई हैं। उन लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं जो लोग अपना गांव-घर छोड़कर दूसरे शहरों में प्रवास पर हैं। लॉकडाउन के कारण ऐसे लोगों के रोजगार पर ताला लग गया है। ऐसी स्थिति में उन्हें अपने घर लौटने के अलावा कोई चारा नहीं है। लेकिन इसमें परेशानी ये है कि लोग अपने गांव लौटें कैसे क्योंकि यातायात के सभी साधन ठप हैं।सागर जिले के हरई से पैदल चलकर शहडोल-उमरिया जा रहे मजदूर के आने की जानकारी जैसे ही उमरियापान नायब तहसीलदार हरिसिंह धुर्वे को लगी।राजस्व अमले के साथ नायब तहसीलदार ने अस्पताल पहुँचे।राजस्व अमले ने सभी मजदूरों को उमरियापान अस्पताल के समीप रोका। सभी लोगों को सेनेटाइजर से हाथ साफ करवाकर मास्क लगवाया है।सोसल डिस्टेंस पर बिठाकर सभी मजदूरों को नाश्ता पानी उपलब्ध कराया है।उमरियापान अस्पताल में सभी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कराकर चार पहिया वाहन से सभी को  उमरिया जिले तक भिजवाया है। वही ग्वालियर और मैहर से पहुँचे आधा दर्जन लोगों को भी वाहन की व्यवस्था कर ढीमरखेड़ा के अलग अलग गांवों तक भिजवाया है।


Share To:

Post A Comment: