कमिश्नर डाॅ. अशोक कुमार भार्गव की अध्यक्षता में जिला संकट प्रबंधन समिति की बैठक संपन्न 

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में लगे अधिकारियांे, कर्मचारियों का कमिश्नर ने हौसला अफजाई किया जान खोखिम मे डालकर काम कर रहे कर्मचारियों के प्रति धन्यवाद किया

कलयुग की कलम प्रेस 

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल   - कमिश्नर रीवा एवं शहडोल संभाग डाॅ. अशोक कुमार भार्गव की अध्यक्षता में सर्किट हाउस में जिला संकट प्रबंधन समूह की आवश्यक बैठक  संपन्न हुई। बैठक में पुलिस महा निरीक्षक शहडोल रंेज जी जनार्दन, कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी, पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रेखा सिंह,  मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अंकित अस्थाना, एसडीएम मानपुर योगेश तुकाराम, एसडीएम बांधवगढ अनुराग सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा राजेश श्रीवास्तव, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग आनंद राय सिन्हां, जिला आपूर्ति अधिकारी बी एस परिहार, मुख्य नगर पालिका अधिकारी एस के गढपाले, सहायक आयुक्त सहकारिता आरती पटेल, कार्यालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय ए बी निगम, डा बी के प्रजापति, डा संदीप सिंह सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे। 

कमिश्नर रीवा एवं शहडोल संभाग डा अशोक कुमार भार्गव ने कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जिले में की गई व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए कहा कि स्वास्थ्य , सफाई , सुरक्षा के साथ साथ नागरिको को राहत पहुचाने के कार्य मे मुस्तैदी से लगे समस्त मैदानी अधिकारियों कर्मचारियों का हौसला अफजाई करें ताकि वे और अधिक जज्बें के साथ नागरिकों को अपनी सेवाएं दें सके। उन्होनंे कहा कि सोशल डिसटेसिंग , मास्क  लगाएं और दिन मे कई बार साबुन से हाथ धोने के साथ साथ सेनेटाईजर का उपयोग सतत रूप से करे। कमिश्नर ने निर्देशित किया कि अन्य जिलो से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग करें इसके पश्चात ही उन्हें गंतव्य की ओर जाने की सलाह दे। आपने कहा कि पूरी सफाई के साथ घरों में सोशल डिसटेसिंग का पालन करते हुए अपने नाक, आंख एवं मुंह को नही छुएं तभी हम कोरोना की इस बीमारी को समाप्त करनें में काम याब हो सकेगे। 

डा0 अशोक कुमार भार्गव ने अधिकारियों से कहा है कि लाक डाउन का पालन पूरी तरह से सुनिश्चित करनें की मुहिम मे ढील नही दें यदि कोई भी व्यक्ति घर से अकारण रूप से घूमने निकलता है उससे पूछताछ जरूर करें और संतोष जनक कारक नही मिलने पर उसके खिलाफ कार्यवाही करे। जिले में लगने वाली सब्जी मण्डियों में डिसटेंस बनाकर दुकान लगाएं और बारी बारी से सोशल डिसटेसिंग बनाकर ही सब्जियां क्रय करे। इसी तरह मेडिकल स्टोरो में मात्र दो ही कर्मचारी रहे, यह भी सुनिश्चित कराया जाए। 

कमिश्नर ने कहा कि अस्पताल में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को गेट पर ही साबुन से हाथ धुलाया जाए और हाथो को सेनेटाईज करवाया जाए। वहां पानी की व्यवस्था बनी रहे यह सुनिश्चित करे। गेट दरवाजा , कुर्सी, टेबल आदि को समय समय पर सेनेटाईज कराते रहे । उन्होंने कहा कि जिले के समस्त अधिकारी समन्वय बनाकर इस बीमारी को रोकने में अपनी महती भूमिका अदा करे, ताकि जिलें में यह बीमारी आ ही ना सके। 

पुलिस महा निरीक्षक शहडोल रेंज जी जनार्दन ने जिले की कानून व्यवस्था की स्थिति का जायजा लेते हुए सुरक्षा मे ंलगे अधिकारियों, कर्मचारियों को धन्यवाद ज्ञापित किया और निर्देश दिए कि वे कोरोना जैसी घातक बीमारी से निजात दिलाने के लिए नागरिकों को नियमों का पालन कराने के लिए सतत प्रयास करते रहे । समस्त बाहर से आने वाले व्यक्तियों को सेनेटाईज कराने, मुंह में मास्क लगाने और साबुन से हाथ धोने आदि की समझाइश दें यह बडे पुनीत का कार्य है इसे पूरे जज्बें के साथ संपादित करें। 

जिला संकट प्रबंधन समिति की बैठक में कलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने कमिश्नर को बताया कि जिले में 4924 व्यक्ति दूसरे जिले से आये थे। जिनकी स्क्रीनिंग की जाकर उन्हें घरों को भेजा गया। अब तक जिले में 11 हजार से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की गई है।  कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला चिकित्सालय में 10 बेड का आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है। साथ ही लाक डाउन में सोशल डिसटेसिंग का आम नागरिकों द्वारा पूरी तरह पालन किया जा रहा है। ग्राम पंचायत में गरीबो ंको राशन पहुचाया जा रहा है। सब्जी मण्डी, मेडिकल स्टोर का दल द्वारा सतत निरीक्षण कर उन्हे आवश्यक समझाइश दी जा रही है। कटनी ,जबलपुर एवं अन्य जिलों से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम सीमाओं मंें जा रही है। कलेक्टर ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसमें 785 शिकायते प्राप्त हुई थी जिनका अधिकांशतः निराकरण किया जा चुका है। कलेक्टर ने बताया कि आयुष विभाग द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु रोग प्रतिरोधक आयुर्वेदिक दवा 12855 एवं होम्योपैथी दवा 2749 लोगों को दवाईयां घर घर पहुचाई गई है। उन्होनें बताया कि जिले में 50 स्थानों पर राहत शिविर स्थापित किए गए है जहां गरीब, असहाय लोगों को भोजन आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। अब तक जिले मंे 6561 लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया है। 

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने जिले में कानून व्यवस्था के संबंध में अगवत कराते हुए कहा कि समस्त पुलिस अधिकारी एवं जवान शासन की गाईड लाईन एवं जिला प्रशासन के आदेशों का नागरिकों के मध्य समझाइश देकर पालन कराया जा रहा है। उसी का परिणाम है कि जिले में कोई अप्रिय घटना घटित नही हुई । इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अंकित अस्थाना ने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन पंचायतों द्वारा हितग्राहियों को घर घर वितरित की जा रही है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अंतर्गत प्रत्येक जन धन खाते में दो दो हजार रूपये की राशि हस्तांतरित की गई है। अब तक जिले में 8026 परिवारों को 1.20करोड की राशि वितरित की गई । इसी प्रकार बैगा परिवार की मुखिया को 10 करोड से अधिक की राशि उनके खातों में हस्तांतरित की गई है। श्री अस्थाना ने बताया कि आजीविका मिशन के तहत 14 हजार मास्क स्व सहायता समूहों द्वारा तैयार कर निशुल्क रूप से वितरित किया गया।

Share To:

Post A Comment: