कोरोना महामारी रोकने केंद्रीय कैबिनेट के फैसले का स्वागत

हथियारों की जगह वैक्सीन बनाए सरकार ....शिव सिंह

कलयुग की कलम प्रेस 

 6 अप्रैल 2020.... विश्व सहित देश में फैली कोरोना महामारी संकट से निपटने को लेकर केंद्रीय मंत्रिमंडल के इस फैसले का कि देश के राष्ट्रपति उपराष्ट्रपति प्रधानमंत्री सभी केंद्रीय मंत्री एवं राज्यों के राज्यपाल तथा सभी सांसद 1 साल के वेतन की 30 फ़ीसदी राशि पीएम फंड में देंगे  तथा इस फैसले का भी की वर्ष 2020- 2021 एवं 2021 - 2022 के लिए सांसद निधि को निलंबित कर दिया गया है इसका उपयोग सिर्फ कोरोना महामारी से लड़ने के लिए किया जाएगा का स्वागत करते हुए मीसाबंदी बृहस्पति सिंह एवं जनता दल सेक्युलर के प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह एडवोकेट ने कहा कि यह फैसला देश हित के लिए एक बड़ा कदम  है  तथा सरकार का इस और भी ध्यान केंद्रित करने सुझाव दिया गया कि सांसद निधियां निलंबित तो कर दी गई है लेकिन जनहित के अनिवार्य कार्य जारी रखना चाहिए सरकार उक्त कटौती राशि से जो गरीबी रेखा के नीचे हैं रोज कमाने खाने वाले हैं मध्यमवर्गीय हैं अन्य पीड़ित व्यक्ति हैं उन्हें रोज घरों में बैठकर नहीं खिला सकती  इसलिए उनको कोई ना कोई काम देना चाहिए जिससे वह घर बैठे अपनी आमदनी  का स्रोत बना सके  तथा प्रधानमंत्री ने कोरोना महामारी संकट के चलते विगत दिवस विपक्षी दलों के नेताओं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव  सहित देश के सभी पार्टी प्रमुखों मुख्यमंत्रियों पूर्व मुख्यमंत्रियों से बात किया उसका भी स्वागत करते हुए कहा कि यह राष्ट्रीय संकट है और सभी नेताओं को अलग-अलग क्षेत्रीय स्तर की जानकारी होती है लेकिन यह  चर्चा प्रधानमंत्री को  लॉक डाउन घोषित करने के पूर्व ही करना चाहिए था शायद कोई ना कोई नया नतीजा सामने आता लेकिन कहीं ना कहीं अपनी कमियां छिपाने एवं देशवासियों का ध्यान बटाने के लिए जो तरीके ताली बजाने थाली घंटी बजाने दीपक जलाने टॉर्च जलाने मोबाइल लाइट जलाने का लिया गया  वह महामारी रोकने के उद्देश्य से देश हित में कतई नहीं  था यहां तक कि  लॉक डाउन तोड़ कर लोगों ने  आतिशबाजी किया  मशाल जुलूस निकाला  ऐसा जश्न तो  जब रामचंद्र  रावण को मार कर घर लौटे थे तब दीपोत्सव के रूप में मनाया गया था लेकिन अभी तो यह महामारी  जिंदा है बढ़ती जा रही है यह विश्व  महामारी का रूप लिए हुए हैं आज दुनिया के जो  विकासशील देश हथियार बनाने की होड़ में लगे हुए थे वह सभी कोरोना महामारी से भयंकर ग्रसित हैं इस महामारी ने यह बता दिया कि हथियारों  गोला बारूद से देश चलने वाला नहीं है आज सभी को हथियार बनाने की होड खत्म करके इस महामारी से निपटने वैक्सीन बनाने की जरूरत है आज सभी देशों के हथियार जहां रखे हैं इस महामारी के डर से उनकी कोई रखवाली करने वाला नजर नहीं नजर आ रहा सबको इस महामारी से जान बचाने की लगी है  प्रधानमंत्री जी हम  इस ओर भी आपका ध्यान आकृष्ट कराना चाहते हैं कि अमेरिका चीन एवं यूरोप ने पहला वैक्सीन बनाने की होड़ शुरू कर दिए हैं लेकिन आप देश के नाम संदेश पर कोई ना कोई नया फरमान जारी करते रहे जो महामारी के बचाव नहीं है इसलिए सरकार को इस महामारी से उबरने के लिए वैक्सीन स्वास्थ उपकरण अधिक से अधिक तैयार कराने की जरूरत है तथा हम यह भी मांग करते हैं कि इस महामारी से निपटने के लिए जो भी डॉक्टर स्वास्थ्य कर्मी पुलिसकर्मी सफाई कर्मी अधिकारी कर्मचारी एवं अन्य संस्थाओं के लोग अपनी जान जोखिम में डाल सेवाएं प्रदान कर रहे हैं उनका भी  बीमा किया जाना चाहिए तथा उन्हें आवश्यक सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिए जिससे इस महामारी का मुकाबला किया जा सके  l

                 
            शिव सिंह एडवोकेट
 प्रदेश अध्यक्ष  जनता दल सेक्यूलर मध्य प्रदेश
Share To:

Post A Comment: