कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेटद्वारा लाॅक डाउन  की अवधि में छूट संबंधी संशोधित आदेश जारी


अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल -कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डाॅ0 सतेन्द्र सिंह ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए शहडोल जिला क्षेत्रांतर्गत कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण में वृद्धि को नियंत्रित करने एवं निदानात्मक उपायो को सुनिश्चित करने के दृष्टिकोण से आगामी 3 मई तक पूर्णतः लाॅकडाउन किये जाने एवं अत्यावश्यक सेवाओं को छूट प्रदान करने के संबंध में आदेश जारी किया गया है। 

जारी आदेश में कहा गया है कि शहरी क्षेत्रों में लाक डाउन के संबंध में 20 अप्रैल 2020 को जारी आदेश यथावत प्रभावसील रहेगा इसमें किसी प्रकार की छूट नहीं रहेगी,शहरी क्षेत्रांतर्गत थोक सब्जी विक्रेता प्रातः 6ः00 से 10ः00 बजे तक आढ़त का कार्य कर सकेंगे, ग्रामीण क्षेत्रांतर्गत दुकान एवं स्थापना अधिनियम के अंतर्गत पंजीकृत सभी दुकानें खुली रहेगी परंतु नगर पालिका नगर परिषद सीमा क्षेत्र से बाहर स्थिति मल्टी ब्राण्ड, सिंगल ब्रांड, माल अपने 50ः श्रमिक क्षमता के साथ ही कार्य कर सकेंगे उन्हें मास्क लगाना तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा, पूर्व में जारी आदेश 20 अप्रैल 2020 का शेष भाग यथावत रहेगा।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचाय  तथा सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देशित किया गया कि उक्त आदेश को ग्रामीण क्षेत्रों में डोंडी पिटवाकर मुनादी कराना सुनिश्चित करेंगे तथा उक्त आदेश का तत्काल चलित वाहनों पर ध्वनि विस्तारक यंत्रों के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करें, क्योंकि समय अवधि में उक्त आदेश की तामिली सभी पक्षों को करना संभव नहीं है अतः यह आदेश एकपक्षीय रूप से जारी किया जा रहा है, सभी प्रकार की सेवाओं के संचालन में सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य सुरक्षा नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा।

सोशल डिस्टेंस एवं गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले किसी भी प्रतिष्ठान उद्योग को तहसीलदार थाना प्रभारी व अन्य श्रेणी के अधिकारी द्वारा 3 मई तक सील किया जा सकेगा। उक्त आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड संहिता की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51, 53, 56, 57, 59,60 एवं धारा 188 दण्ड प्रक्रिया संहिता के तहत तथा शासन के अन्य सुसंगत प्रावधानों के अंतर्गत दंडनीय होगा।

Share To:

Post A Comment: