कोरोना संक्रमण से संरक्षण हेतु समग्र आयामों पर करना होगा कार्य - सांसद

सक्रिय स्वास्थ्य जाँच के साथ बेसहारा वर्ग के संरक्षण पर सतत रूप से रखें ध्यान

संरक्षण योजना वी केयर का सांसद हिमाद्रि सिंह ने किया शुभारम्भ

कलयुग की कलम 

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

ज़िला संकट प्रबंधन समूह की बैठक में वर्तमान चुनौतियों से निपटने एवं आगामी कार्ययोजना पर हुआ मंथन

लॉक इन मॉडल पर औद्योगिक संस्थानो के संचालन हेतु कलेक्टर ने तैयारियाँ करने के दिए निर्देश

शहडोल/अनुकपुर    -कलेक्ट्रैट सभागार में आयोजित ज़िला संकट प्रबंधन समूह की बैठक में सांसद शहडोल संसदीय क्षेत्र हिमाद्रि सिंह ने ज़िला प्रशासन के विभिन्न अंगो स्वास्थ्य, प्रशासन, पुलिस, विद्युत एवं अन्य विभागों के शासकीय सेवकों तथा समाजसेवियों द्वारा कोरोना संक्रमण से अनूपपुर ज़िले को मुक्त रहने, आमजनो एवं ज़रूरतमंदो को आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराने हेतु अब तक किए गए प्रयास की सराहना की। आपने ज़िले में स्वास्थ्य जाँच की स्थिति, विभिन्न स्वास्थ्य उपकरणो,पीपीई किट, आइसोलेशन वार्ड एवं आइसोलेशन कैम्प की क्षमता एवं सुविधाओं के सम्बंध विस्तार से सम्बंधित अधिकारियों से चर्चा की एवं सतत रूप से निगरानी करते रहने एवं आवश्यकताओं के सम्बंध में शीघ्र उच्च स्तर को अवगत कराने एवं नियमित रूप से सम्पर्क में रहने के निर्देश दिए। इस दौरान आपके द्वारा यह भी कहा गया कि जहाँ एक ओर एहतियातन कदम महत्वपूर्ण हैं, वहीं बेसहारा वर्ग का संरक्षण भी आवश्यक है, इस कार्य को प्रशासन पूरी संवेदनशीलता के साथ करे। कठिन समय में ज़िम्मेदारी का बोझ बढ़ता है और हम सभी को दोगुनी ऊर्जा से इस दिशा में कार्य करना होगा। आपने कहा अनूपपुर का नागरिक चाहे वह किसी भी ज़िले अथवा प्रदेश में हो, उसके हितों का संरक्षण हमारी ज़िम्मेदारी है। सांसद श्रीमती सिंह द्वारा कुछ विशेष दवाइयों की अनुपलब्धता की आमजनो द्वारा उल्लेखित समस्या पर ध्यान आकृष्ट करते हुए इस हेतु विशेष अधिकारी को नियुक्त करने के निर्देश दिए गए।

इस दौरान श्रीमती सिंह द्वारा गरीब बेसहारा परिवारों का विशेष ध्यान रखने के उद्देश्य से ज़िले में संरक्षण योजना- वी केयर का शुभारम्भ किया गया। योजना के तहत ज़िला प्रशासन द्वारा बेसहारा वर्ग एवं अत्यंत गरीब परिवारों का चयन कर उन्हें स्वच्छता एवं खाद्य सामग्री का किट वितरित किया जाएगा। इस प्रयास के माध्यम से गरीब बेसहारा वर्ग को संरक्षण प्राप्त होगा साथ ही समाज में कोरोना संक्रमण से सुरक्षा हेतु अपेक्षित आचरण एवं सावधानियाँ बरतने की जागरूकता का भी प्रसार होगा। प्रारम्भिक तौर में सम्पूर्ण ज़िले में 5000 परिवारों को लाभान्वित किया जाएगा। इस हेतु पुष्पराजगढ़ में 2500 किट, जैतहरी में 1200 किट, अनूपपुर में 800 किट एवं कोतमा विकासखंड में 500 किट का वितरण किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि योजना के क्रियान्वयन हेतु सांसद हिमाद्रि सिंह की पहल पर एसईसीएल द्वारा 25 लाख रुपए की राशि प्रदान की गयी थी। साथ ही अनूपपुर ज़िले के समाजसेवियों एवं जागरूक नागरिकों द्वारा अनूपपुर आपदा राहत कोष में प्रदान की गयी राशि का प्रयोग इस योजना के क्रियान्वयन हेतु किया जाएगा।

किट में 1 नहाने का साबुन, 1 हाथ धोने का साबुन, 1 किलो डिटर्जेंट, 180 मिली सैनिटाईज़र की बॉटल, 100 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर तथा 4 मास्क दिए जाएँगे। इसके साथ ही खाद्य सामग्री में 2 किलो दाल, 2 किलो आलू, 1 किलो प्याज़ एवं 1 लीटर तेल शामिल है। 1 किट की अनुमानित लागत 500 रुपए है।

ववितरण हेतु परिवारों के चयन में विधवा एवं महिला मुखिया गरीब परिवार, दिव्यांग गरीब परिवार, बेसहारा, असहाय बृद्ध परिवार, पात्रता पर्ची विहीन गरीब परिवार, भूमिहीन, दिहाडी मजदूर, बैगा परिवार को प्राथमिकता दी जाएगी। उक्त परिवारों के चयन की कार्यवाही ग्राम पंचायत स्तर पर गठित संबंधित हल्का पटवारी, सचिव एवं ग्राम रोजगार सहायक की कमेटी करेगी। सांसद द्वारा समिति को संवेदनशील एवं निष्पक्ष रूप से परिवारों का चयन करने के निर्देश दिए गए हैं।

कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने अवगत कराया कि ज़िला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा एवं खाद्य सुरक्षा दोनो क्षेत्रों में सतत रूप से कार्य किया जा रहा है। आपने बताया पलायन कर आ रहे श्रमिकों को संस्थागत क्वॉरंटीन केंद्र में रखा जा रहा है जहाँ पर वे लॉक डाउन की अवधि तक रहेंगे। बाहर के ज़िलों विशेषकर इंदौर, भोपाल, दिल्ली अथवा अन्य किसी हॉटस्पॉट से आने वाले नागरिकों को आइसोलेशन कैम्प में 14 दिन तक रखा जा रहा है, स्वास्थ्य जाँच में सही पाए जाने पर ही उन्हें घर के लिए भेजा जाएगा। आपने इस दौरान बताया कि जो व्यक्ति 1 अप्रैल के बाद अनूपपुर आए हैं, अगर वे स्वयं से सीधे सम्बंधित थाने, अस्पताल अथवा एसडीएम ऑफ़िस नही आते हैं उन पर कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान आपके द्वारा स्वास्थ्य जाँच की अद्यतन स्थिति, विभिन्न स्वास्थ्य सामग्रियों, पीपीई किट की उपलब्धता की जानकारी दी गयी। कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि ज़िले में अब तक प्राप्त समस्त 42 रिपोर्ट निग़ेटिव हैं, ज़िले में कोई भी पॉज़िटिव मरीज़ नही है। आपके द्वारा बताया गया कि विषम परिस्थितियों से निपटने हेतु प्रशासन एवं पुलिस का अमला तैयार है समस्त ज़िले के लिए कंटेनमेंट योजना बनायी जा चुकी है। आपने बताया शासन द्वारा निर्देशित उद्योगों के संचालन पर भी सुरक्षात्मक उपायों पर नज़र रखी जा रही है। इस दौरान कलेक्टर द्वारा उपस्थित संस्थानो के प्रतिनिधियों से लॉक इन मॉडल के क्रियान्वयन हेतु चर्चा कर आवश्यक तैयारियाँ करने के निर्देश दिए गए।

बैठक में उपस्थित पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल द्वारा कालाबाज़ारी पर नकेल कसने एवं गरीब बेसहारा वर्ग के लोगों को प्राथमिकता के साथ खाद्यान्न आवंटन करने की बात कही गयी। ज़िस पर कलेक्टर श्री ठाकुर ने अवगत कराया कि कालाबाज़ारी पर निगरानी रखी जा रही है एवं कार्यवाहियाँ की जा रही है। आगामी दिवसों में निगरानी और सख़्त की जाएगी। बेसहारा वर्ग के लोगों को प्राथमिकता के साथ खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है, विशेष परिस्थिति में होने पर नागरिक ज़िला स्तरीय कंट्रोल रूम नम्बर 07659-222563 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं।

बैठक में पूर्व विधायक रामलाल रौतेल, पुलिस अधीक्षक किरणलता केरकेट्टा, सीईओ ज़िला पंचायत सरोधन सिंह, अपर कलेक्टर बी॰डी॰सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ बी॰डी॰ सोनवानी, सहित अन्य जनप्रतिनिधि, समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, ज़िला संकट प्रबंधन समूह के सदस्य, औद्योगिक संस्थानो के प्रतिनिधि उपस्थित थे।



Share To:

Post A Comment: