कृषकों के हितों के मद्देनजर रबी फसलों की कटाई हेतु सशर्त अनुमति जारी

फसल कटाई समय सोशल डिस्टंेेसिंग का पालन करे कृषक- डाॅ. सतेन्द्र सिंह 

कलयुग की कलम प्रेस

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल - कलेक्टर डाॅ सतेन्द्र सिंह ने जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण में गति को नियंत्रित करने के साथ साथ  कृषि कार्यांे में रबी फसल कटाई की सशर्त अनुमति प्रदान की है। जारी आदेश के अनुसार रबी फसलों की कटाई हेतु रीपर, हार्वैस्टर, थे्रसर, टेªक्टर आदि यंत्र उपकरणों के रिपेयरिंग आवश्यक आटो पार्टस  से संबंधित  दुकान लाॅकडाउन  अवधि में समय प्रातः 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक खोल सकेगें तथा उक्त यंत्रों के परिवहन व आवागमन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे, रबी फसलों के बीज उपार्जन के परिवहन एवं खरीफ बीजों के संसाधन, पैकिंग आदि कार्याें के लिए बीज उत्पादक सहकारी समिति, बीज निगम एवं बीज प्रमाणीकरण संस्थायें उक्त कार्य समय प्रातः 10 बजे से सायं 5 बजे  तक संचालित कर सकेगे, किन्तु एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति  एक साथ एकत्रित  न हो, उत्पादित  कच्चा बीज के भर्ती हेतु खाली बारदानों की आवश्यकता होगी, अतः खाली बारदाना विक्रेताओं के दुकान भी लाकडाउन अवधि मंे प्रातः 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक खुले रहेगें, ग्रीष्मकालीन व खरीफ बोनी हेतु कृषि आदानों के पंजीकृत विक्रेता, सहकारी समिति , डबल लाॅक केन्द्र समय प्रातः 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक संचालित होगी, कृषि कार्य  एवं फसल कटाई प्रयोग एवं उपार्जन से संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी जिन्हें दायित्व सौंपा गया है लाकडाउन अवधि में अपने कर्तव्यों के निर्वहन हेतु अपने कर्तव्य स्थल, क्षेत्र में आने-जाने के प्रतिबंध से मुक्त रहेंगें किन्तु प्रत्येक को अपने पास पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। 

रबी फसल की कटाई के लिए जारी आवश्यक श्र्ताें में रबी फसलों की कटाई में कोशिश करें कि मशीन एवं उपकरणों से ही करें, हाथ से कटाई करने वाले उपकरणांे के इस्तेमाल से बचें अगर बेहद जरूरी हे कि हाथ के उपकरणां से कटाई करना है तो साबुन, डिटर्जेन्ट से पहले इन्हें अच्छे से धोकर साफ करें, धोना इसलिए आवश्यक है क्योंकि कोरोना वायरस किसी भी सतह पर ठहर सकता है, कोई भी कृषि कार्य करने के दौरान दो-दो घण्टे बाद साबुन से हाथ धोते रहें, एक व्यक्ति द्वारा इस्तेमाल किये गए उपकरण दूसरा व्यक्ति इस्तेमाल न करे,ं अगर कर रहे है तो पहले उपकरण को साबुन या डिटर्जंेन्ट से जरूर धोवें, कृषि कार्य के दौरान सोषल डिस्टेसिंग यानि व्यक्ति के बीच की कम से कम एक मीटर की दूरी बनाये रखें, खाना खाते समय भी अलग-अलग  बैठे,  बर्तन भी अलग अलग ही रखें, पीने के पानी के बर्तन, बोतल या गिलास भी अलग अलग ही इस्तेमाल करें, कपडे रोजाना बदले, इस्तेमाल किये गये कपडों को अच्छे से धोकर सुखायें और दुबारा पहने, कोई भी  कृषि कार्य  करते समय मुंह पर साफ कपडा, गमछा लपेटे या मास्क लगायें, मुंह नाक, कान, आॅखों को  हाथ से छूने से बचे, खांसी जुकाम , हल्का बुखार सिर बदन दर्द जैसी तकलीफ  महसूस कर रहे है तो कृषि कार्य के लिये बिल्कुल न जायें, तुरंत स्वास्थ्य केन्द्र जाकर इलाज करायें, बुजुर्ग  किसान जिनकी आयु 60 वर्ष के उपर हे कृषि कार्य के लिये खेतों का रूख बिल्कुल न करें, छोटे बच्चों को भी खेतो में न ले जायें, प्रत्येक कृषि  आदान पंजीकृत  विक्रेता वैध लाईसेंस  की छायाप्रति दुकान के सामने चस्पा  करेंगे तथा प्रत्येक आदान सामग्री का नियमानुसार  भण्डारण, विक्रय करते हुये कृषकों की सूची सहित  दैनिक जानकारी प्राधिकृत  अधिकारी को प्रेषित करेंगें,बीज उत्पादक सहकारी समितियां संसाधन कार्य में लगे मजदूरों की पूर्ण विवरण सहित जानकारी रखेंगे तथा रबी बीज उपार्जन  मात्रा की दैनिक रिपोर्ट संबंधित प्राधिकृत अधिकारी को प्रेषित  करेंगे,  कृषि उपकरणों के पार्टस विक्रेताओं एवं रिपेयर वर्कशाप अपने दुकान में तीन  से अधिक व्यक्ति की भीड़ एकत्रित नही होने देंगे तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करायेंगे, संस्थाआंे  द्वारा या कृषकों  द्वारा मजदूरांे एवं श्रमिकों से कार्य लिये जाने पर उन्हें सेनेटाईजर, मास्क, साबुन, पानी, गिलास एवं आवश्यकतानुसार ठहरने, भोजन आदि की सम्पूर्ण  व्यवस्था अधिकृत इकाई व संस्था द्वार ही करनी होगी तथा सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना होगा, उपरोक्त  के अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग एवं राज्य एवं केन्द्र शासन के समय-समय कर जारी गाईडलाईन का प्रत्येक के पालन करना अनिवार्य होगा। जारी आदेश में कहा गया है कि शर्ताें के पालन न होने की स्थिति में यह आदेश स्वतः निरस्त माना जायेगा तथा उलघंन की स्थिति  में कार्यालयीन प्रतिबंधात्मक आदेश 14 अपै्रल2020  के  अनुसार  दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।


Share To:

Post A Comment: