आयुष विभाग द्वारा कोरोना वायरस के मद्देनजर, वितरित की जा रही आयुर्वेदिक औषधियां

कलयुग की कलम रिपोर्टर सोनू त्रिपाठी

कटनी- कोरोना वायरस के मद्देनजर कलेक्टर शशिभूषण सिंह के निर्देशानुसार आयुष विभाग के अमले द्वारा जिलेभर में संचालित आयुष औषधालयों व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के माध्यम से कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु आमजन को आयुर्वेद औषधि त्रिकटु चूर्ण, संश्मनी वटी, एवं होम्योपेथी ओषधि आर्सेनिकम एल्बम-30 का वितरण किया गया है। आयुष विभाग के चिकित्सकों एवं मैदानी स्टॉफ द्वारा आमजन को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं सुरक्षा संबंधित स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एडवायजरी की जानकारी भी प्रदान करते हुये जनजागरूकता का कार्य किया जा रहा है। जिला आयुष अधिकारी डॉ0 आर0के0 सिंह ने बताया कि आयुष टीम द्वारा बुधवार को जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 14 हजार 440 लोगों को औषधि का वितरण किया गया। जिनमें 2707 अन्य जिलों से आये मजदूर शामिल हैं। आयुर्वेद पद्धति में त्रिकटु चूर्ण व संशमनी वटी का वितरण रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये निःशुल्क प्रदाय की जा रही हैं। जिला आयुष अधिकारी डॉ0 आर0के0 सिंह ने इन औषधियों के उपयोग की विधि के संबंध में जानकारी दी है। इसके अनुसार त्रिकटु चूर्ण को प्रति व्यक्ति 3-5 ग्राम मात्रा को 1 लीटर पानी में डालकर उबालना है। पानी आधा शेष रह जाने पर उसे ठण्डा करने के बाद दिन में 4 से 6 बार घूंट घूंट कर पीने की सलाह दी गई है।

 इसी प्रकार संशमनी वटी 250 मिलीग्राम की दो टिकिया दिन में दो बार गरम जल से सुबह शाम लेने के लिये कहा गया है। बच्चों के लिये 2 वर्ष से 12 वर्ष तक उपरोक्त मात्रा की आधी औषधि की मात्रा पर्याप्त है। यह औषधियां निर्धारित मात्रा व सेवन विधि अनुसार एक सप्ताह तक ली जानी है। हौम्योपैथी पद्धति के तहत दी जाने वाली औषधि आर्सेनिक एल्बम 30 का सेवन के लिये बताया गया है कि इसकी 5-6 गोली प्रतिदिन सुबह खाली पेट लगातार तीन दिन तक लेना है। यह दवा घुलने तक जीभ में रखकर सेवन करनी है। इस औषधि के आधे घंटे पूर्व एवं पश्चात कुछ भी नहीं खाने के लिये कहा गया है। 2 वर्ष से 12 वर्ष तक के बच्चों के लिये आर्सेनिक एलबम 30 की 2 से 3 गोली को सेवन बताये अनुसार करना होगा। इसके अतिरिक्त यदि कोई व्यक्ति किसी ब्याधि से पीडि़त है, तो उसका उपचार एवं औषधि सेवन चिकित्सीय परामर्श से करने की सलाह भी आयुष विभाग द्वारा दी गई है।



Share To:

Post A Comment: