गेहूं उपार्जन की राशि किसानों के खातों में पहुंचने की प्रक्रिया शुरू

गत वर्ष की तुलना में मंडियों के माध्यम से दोगुना गेहूं बिका

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गेहूं उपार्जन कार्य की समीक्षा की


अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

भोपाल/शहडोल-मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने कहा है कि प्रदेश में चल रहे रबी उपार्जन कार्य के अंतर्गत उपार्जित गेहूं की राशि किसानों के खातों में भिजवाए जाने की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। उपार्जन की लगभग 200 करोड़ रुपए की राशि बैंकों को भिजवा दी गई है। यह राशि 02-03 दिन में किसानों के खातों में पहुँच जाएगी। इस वर्ष गत वर्ष की तुलना में मंडियों के माध्यम से अभी तक दोगुना गेहूं बिका है।  श्री चौहान मंत्रालय में मंत्रियों एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ रबी उपार्जन कार्य की समीक्षा कर रहे थे। 

'सौदा पत्रक' के माध्यम से 81 प्रतिशत खरीदी

बैठक में बताया गया कि प्रदेश की मंडियों में की गई खरीदी में से 81 प्रतिशत खरीदी इस बार सौदा पत्रक के माध्यम से की गई है। इसके अंतर्गत व्यापारी किसानों की उपज सीधे उनके घर से खरीद रहे हैं। मंडियों के माध्यम से गत वर्ष की तुलना में अभी तक दोगुना गेहूं खरीदा जा चुका है। मंडियों के माध्यम से गत वर्ष वर्तमान समय तक 1.11 लाख मी.टन गेहूं खरीदा गया था जबकि इस बार अभी तक 2 लाख 14 हजार मी.टन गेहूं खरीदा जा चुका है। 

वर्ष 2019-20 के ऋण का 50 प्रतिशत ही काटें

मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने बताया कि उपार्जन में कुछ जिलों में वर्ष 2019-20 के किसानों के ऋण की राशि के अलावा उनके अन्य ऋण की राशि भी काटी जा रही है। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि किसानों के वर्ष 2019-20 के नियमित ऋण की 50 प्रतिशत राशि के अलावा अन्य कोई राशि ना काटी जाए।

2 लाख किसानों से 7.80 लाख मी.टन गेहूं उपार्जित

प्रमुख सचिव, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में गेहूं उपार्जन कार्य के अंतर्गत अभी तक 2 लाख किसानों से 7.80 लाख मी.टन गेहूं समर्थन मूल्य पर उपार्जित किया गया है। भोपाल और उज्जैन में भी खरीदी प्रारंभ हो गई है। इंदौर में बाद में होगी। प्रदेश में कोरोना संकट के इस दौर में गेहूं उपार्जन के अच्छे कार्य के लिए मुख्यमंत्री ने संबंधित सभी को बधाई दी।

बैठक में गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, जल संसाधन मंत्री श्री तुलसी सिलावट, सहकारिता, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत, किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल, आदिम जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य हैल्थ श्री मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: