संकट में देवदूत साबित हो रही है एमजीसीपीएम कंपनी, वेवश -- लाचार लोगों को खाद्य सामग्री दे रही है कंपनी

कलयुग की कलम 

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर चल रहे लॉक डाउन में दैनिक मजदूरी कर घर-परिवार चलाने वालों के समक्ष विकट स्थिति उत्पन्न हो गई है। मगर संकट की इस घड़ी में जिला के पहाड़ में पत्थर उत्खनन करने वाली अंबाला की कंपनी एमजीसीपीएल वेवश-लाचार लोगों के लिए देवदूत साबित हो रही है। कंपनी अपने प्लांट के आस-पास अवस्थित गांवों के गरीबों के बीच राशन तथा अन्य जरूरी खाद्य सामग्री का वितरण कर रही है। एमजीसीपीएल कंपनी एवं आठ गांव को बे सहारों लोगों को जीवित किया है  एमजीसीपीएल कई संगठनों ने इस  कंपनी को कर रहे सलाम , गौरतलब है कि एमजीसीपीएल के कंपनी आठ गांव को निशुल्क खाद  सामग्री देकर एक मिसाल  पेश की एमजीसीपीएल एवं कंपनी के मैनेजर रवि कुमार गुप्ता ने बताया है कि इस आपदा घड़ी में कंपनी द्वारा सहयोग दिया जा रहा है हर मदद करने के लिए तैयार है। शेखपुरा के धरती पर कंपनी द्वारा कार्य कई जाने के लेकर कई संगठनों ने सराहनीय कार्य बताया हैं कंपनी के मैनेजर रवि कुमार गुप्ता ने बताया है कि मदद करने लेकर तत्पर रहेंगे कोई भी कठिनाई है मोबाइल नंबर उपलब्ध किया गया है उस नंबर पर फोन करें एमजीसीपीएल कंपनी मदद करने के लिए तैयार है। एवं कंपनी के द्वारा वितरण की गई सूची बरूई, जमुआरा, खोरमपुर, एकसारी, शेखोपुर , कुंडा, इस तरह आठ गांव में वितरण किया गया सामग्री एवं आठ सौ लोगों को बेसहारा लोगों को जीवित किया कंपनी एमजीसीपीएल कंपनी के द्वारा मैनेजर रवि कुमार गुप्ता ने बताया है की जरूरतमंद लोगों के बीच इस आपदा के घड़ी में खाद्य सामग्री उपलब्ध कराया गया जिसमें चावल, दाल, आटा, आलू नमक तेल, दिया गया है ताकि भूखों से मरने की स्थिति ना हो इस परिस्थिति में और कंपनी को आगे  आना चाहिए एवं मदद करना चाहिए।




Share To:

Post A Comment: