गांव में लगा दिया बैरियर..ताकि कोरोना का न आए कहर

ग्राम पंचायत महनेर ने की अहम भूमिका, यहाँ बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित है,बैरियर में सुबह से शाम तक तैनात रहते हैं लोग

कलयुग की कलम प्रेस अंकित झारिया)

उमरियापान:- कोरोना संक्रमण के प्रकोप को लेकर शहर से लेकर गांव तक विशेष सतर्कता बरती जा रही है। वहीं ग्राम पंचायत महनेर के जिम्मेदार लोग भी तीन हजार आबादी को वायरस के कहर से बचाने में अपनी भूमिका निभा रही है। ग्राम पंचायत ने गांव के बाहर लकड़ी का बैरियर लगाकर बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है।बैरियर में गांव के कोटवार उमेश दाहिया, जीआरएस सुनील तिवारी,सरपंच प्रतिनिधि सुरेन्द्र पटेल, रामनारायण परौहा, दीपक पटेल, केदार कोरी, रोहणी बर्मन सुबह से शाम तक तैनात रहते हैं।जो गांव के लोगों को भी बिना वजह से बाहर नहीं जाने देते हैं।गांव का कोई व्यक्ति बाहर जाता या आता हैं तो उसे साबुन से हाथ -पैर धुलकर ही घर में रहने की सलाह दी जाती है। यहाँ परदेस से कमाई करके लौटे व्यक्ति का गांव में तब तक प्रवेश नहीं हो सकता है, जब तक अस्पताल से स्वास्थ्य परीक्षण में स्वस्थ होने की पुष्टि नही हो जाती है।

जानकारी में पंचायत सचिव कमलेश मिश्रा ने बताया कि ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि कोरोना संकट के बने रहने तक न तो गांव का कोई व्यक्ति साथ लगती पंचायत व अन्य जगहों पर जाएगा। न ही अपने रिश्तेदारों को बुलाएगा। गांव में अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है। हालांकि, जिले सहित ढीमरखेड़ा तहसील क्षेत्र में अभी तक कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है। इसके बावजूद ग्रामीण पूरी जागरूकता के साथ किसी प्रकार का खतरा मोल नहीं लेना चाहते। हालांकि गांव के लोंगो ने पंचायत की इस प्रकिया को अपनाने लगे हैं। 

युवक को आइसोलेशन में रखा:- इधर, मजदूरी करने अहमदाबाद गया एक युवक जब महनेर अपने गांव वापस लौटा। देररात को ही ग्रामीणों ने की सूचना पर प्रशासन के साथ उमरियापान से पहुचीं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने युवक का स्वास्थ्य परीक्षण किया। डॉक्टरों ने शुरुआती जांच में ही युवक स्वस्थ पाया गया। इसके बावजूद परिजन व ग्रामीणों से चर्चा के बाद प्रशासन ने युवक को गांव के ही शासकीय स्कूल में आइसोलेशन बनाकर कुछ दिनों के लिए रखा गया।युवक के खाने और रहने की सम्पूर्ण व्यवस्था ग्राम पंचायत के द्वारा कराई जाती है।


Share To:

Post A Comment: