जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक सम्पन्न

3 मई तक यथा स्थिति बनाए रखने का समिति में निर्णय

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल  - कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट डॉ0 सतेंद्र सिंह  की अगुवाई में  आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में जिला आपदा प्रबंधन समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में  विधायक जयसिंहनग श्री जयसिंह मरावी, विधायक जैतपुर श्रीमती मनीषा सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला कटारे, पुलिस अधीक्षक श्री सतेन्द्र कुमार शुक्ला, अधिष्ठाता चिकित्सा महाविद्यालय शहडोल श्री मिलिंद षिरालकर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर द्वय श्री अशोक ओहरी, श्री मिलिंद नागदेवे , अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर श्री धर्मेन्द्र मिश्रा, डाॅ. मदन त्रिपाठी सहित सामाजसेवी डाॅ0 बाल्मीक गौतम,  श्री अनंुपम अनुराग अवस्थी,  श्री आजाद बहादुर सिंह, श्री महमूद खान, सिकंदर खान सहित विभिन्न व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारी एवं सामाजसेवी, आपदा प्रबंधन के सदस्यगण उपस्थित थें।

बैठक में  कलेक्टर ने कोरोना वायरस के संक्रमण के संबंध मंे लाॅकडाउन-2 की अवधि में बाहर से आने वाले मजदूरों के संबंध में उनकी जांच उन्हे ं ठहराने व क्वारंेटाइन कराने आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए समिति के सदस्यगणो को बताया कि काफी संख्या में जिले के मजदूर बाहर से वापस आ रहे है तथा उनके द्वारा संक्रमण का खतरा सबके समक्ष उपस्थित हो गया है अब इस अधिदृश्य खतरे से अपने-अपने घरों में सावधानी रखकर खुद को सुरक्षित रखने के अलावा अन्य उपाय नही दिखाई दे रहा । उन्होने बताया कि ऐसी स्थिति उत्पन्न होने पर वर्तमान में बाहर से आने वाले लोगों की बार्डरों पर ही नाकेबंदी कराकर स्क्रीनिंग कराई जा रही है उसके बाद ही जिले में प्रवेश दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि इन लोगों हेतु वर्तमान में 97 थर्मामीटरों से विभिन्न जगहों पर तथा गांव-गांव में मेडिकल टीमों द्वारा जांच की प्रक्रिया निरंतर जारी है।

पुलिस अधीक्षक श्री शुक्ल ने कहा कि कुछ लोगों द्वारा दुकाने एवं संस्थानों को खोलने की मांग की जा रही है इन परिस्थितियों में संक्रमण की भयावहता की स्थिति निर्मित होगी तथा दुकाने खोलने से गांवों से आने वाले प्रतिदिन

चार से पाच हजार लोगों के कारण एवं गांव से ही कोरोना का प्रवेश होने से अब और अधिक खतरा बढ़ने की संभावना हो गई है। ऐसी स्थिति में अकेले पुलिस को सुरक्षा प्रदान करना संभव नही होगा इसके लिए जनप्रतिनिध, व्यापारी संघ तथा सामाजसेवीयों को भी सुरक्षा का दायित्व लेना होगा। बैठक में विधायक श्रीमती मनीषा सिंह ने बकहो एवं अमलई क्षेत्रों में मास्क, सेनेटाईजर आदि की व्यवस्था ओपीएम एवं रिलायन्स द्वारा कराने का सुझाव दिया तथा रिलायन्स क्षेत्र में जल संकट की स्थिति प्रांरभ होने की भी जानकारी देते हुए रिलायंस द्वारा टैकरों से  आवश्यकता वाले गांवों में पानी उपलब्ध करवाने की मांग रखी। नगरपालिका अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष ने प्रस्ताव रखा कि नगरीय क्षेत्रो के टेला तथा फुटपाथ के छोटे-छोटे व्यापारियों के समक्ष उत्पन्न स्थितिया अब विकराल हो गई है। लाॅकडाउन-2 के पश्चात् शहर की छोटी दुकानों को खोलने पर भी विचार किया जाना चाहिए। बैठक में सभी विषयों पर गहन विचार-विमर्श के पश्चात् सदस्यगणों ने निर्णय लिया कि 3 मई 2020 के बाद उत्पन्न स्थितियों पर पुनः बैठक कर केन्द्र शासन द्वारा दिए गए दिशा निर्देशो के अनुरूप तथा परिस्थितियों को ध्यान रखते हुए ही निर्णय लिया जाएगा।

Share To:

Post A Comment: