मध्य प्रदेश के शहडोल जिले के ग्राम पंचायत सरईकापा भारी लापरवाही नहीं  है कोई सुविधा 

अविनाश शर्मा
शहडोल मध्य प्रदेश
6261959407

शहडोल।- शहडोल जिले के जनपद पंचायत सरईकापा हमेशा कोई ना कोई भ्रष्टाचार या काम में लापरवाही  देखी जाती है जो आज पूरे जिले में अपना अलाग पहचान बना चुकी है 

सचिव महोदय की बात निराली

ग्राम पंचायत की सचिव तो सप्ताह में एक या दो दिन आते है जहा आज पूरा देश कोराना जैसी खतरनाक महामारी से जूझ रहा है पर ग्राम में कोई सुविधा ही नहीं है जहा पैसे की बात हो तो सचिव बिना किसी काम के जानकारी के लाखो रुपए निकाल कर हेर फेरी कर ली जाती है 

पंचायत कर्मी ही करते है दलाली

जी है पंचायत के कुछ कर्मी जो घर घर जाकर योजनाओं के नाम गरीब लोगो से पैसे लेते है कोटा में राशन में भी पंचायत कर्मी दलाली करते है जिसमें पूरा सहयोग कुछ नीचे के अधिकारी वा सचिव महोदय का सब जान करी में होता है गरीबों का राशन भी पंचायत के कर्मी ही सब खा जाते है और जो भी योजना है अपने चहेते को दिया जाता है

जम के हुआ भ्रष्टचार ग्राम पंचायत में

जहा शासन के योजनाओ के नाम पे लाखो रुपए निकला लिया गया जिसका मूल्याकंन 1साल से नहीं है और पैसा बिना डर के निकाल लिया जाता है ये सब सचिव सरपंच वा कुछ पंचायत के  दलाल पूरा पैसे का हिसाब करते है 

अमीरों का नाम गरीबी रेखा में 

जहा सरकार की योजना को तक में रखते हुए बहुत ऐसे लोगो का नाम गरीबी रेखा में है जिनके पास   पैसा जमीन सब कुछ है पर पंचायत ने उन्हें गरीब बना दिया 

और अपने चाहते को द्वारा पैसा भी उन्हीं के खाता में डाला जाता है जिनसे पंचायत कर्मी पैसा वापस ले सके और बाकी लोगों की मजदूरी 3से 4 माह से नहीं मिला और ना ही गरीबी रेखा का कार्ड बना है ऐसे में सरकार की योजना कागज में रह जाती है

इस सब का मास्टर माइंड सचिव और संविदा न्युक्ति हुए कंप्यूटर आपरेटर का भरपूर सहयोग होता है


    सीईओ 

ममता मिश्रा

फोन लगने पर फोन नहीं उठाते हैं

Share To:

Post A Comment: