कई जगह से लगातार सुनने में आ रहा है कि मकान मालिक किराएदार से वसूली शुरू कर चुके हैं।

लेकिन किरायेदारों के रोजगार बंद होने की वजह से किराया जमा करने की स्तिथि मैं  नहीं है।

लेकिन इस विषय को लेकर पहले ही जिला मजिस्ट्रेट ने जिला कलेक्टर ने आदेशित किया था कि कोई भी मकान मालिक किराएदार से जबकि कोविड-19 महामारी की वजह से काम कारोबार और मजदूरी नहीं कर पा रहा है ऐसी अवस्था में कोई भी किराएदार किराया वसूलने में जबरदस्ती नहीं कर सकता 

ऐसी बातें चल रही है कि किरायेदारों से मकान मालिक वसूली में सख्ती कर रहे हैं।

ऐसे में सभी जिला कलेक्टरों को चाहिए कि वीडियो कांफ्रेंस या अधिकारिक आदेश जारी कर सभी मकान मालिकों को आदेशित करें कि वह किराया वसूलने में जोर जबरदस्ती ना करते हुए जब तक लॉक टाउन पूर्णता समाप्त नहीं हो जाता किरायेदारों की समस्या को देखते हुए किराया वसूली का कार्य लंबित करें 

इसके साथ ही सरकार भी अपनी ओर से किरायेदारों को प्रोत्साहन भत्ता की राशि प्रदान करें क्योंकि लंबे समय से आजिविका के स्रोत बन्द चल रहे हैं।

ऐसे में जो गरीब किराए के मकान में रहते हैं वह अपने किराए का भुगतान कैसे करें।

उन्हें रहने खाने के लाले पड़े हुए हैं ।

सभी मकान मालिकों तक अधिकारिक आदेश पहुंचाया जाए ताकि किसी भी किराएदार के साथ ज्यादति ना हो सके लॉकडाउन की वजह से नए मकान मिलना भी मुश्किल है।

सरकार को भी अपनी ओर से किरायेदारों के लिए कोई नई योजना बनाकर उन्हें सरकार द्वारा संबल प्रदान करने के लिए अनुग्रहित करें ताकि किराएदार अपने मकान मालिकों का बकाया किराया दे सकें

और एक बड़े समुदाय को बेघर होने से बचाया जा सके


             लेखक
   अब्दुल कादिर खान
    कलयुग की कलम
     9753687489
Share To:

Post A Comment: