दशको से बंद पड़ी बुंदेलखंड चित्रकूट जिले के  बरगढ़  की एक मात्र ग्लास फैक्ट्री  

बुंदेलखंड राष्ट्र समिति द्वारा महामारी कोरोना वायरस को देखते हुए 

सोसल मीडिया के माध्यम से फैक्ट्री को शुरू करवाए जाने को लेकर चलाया जा रहा आंदोलन 

चित्रकूट ✍️ बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति द्वारा बरगढ़ ग्लास फैक्ट्री को शुरु करवाने के लिए सोसल मीडिया के माध्यम से चलाया जा रहा आन्दोलन

आत्मनिर्भर बनने की राह के इंतजार में बुंदेलखंड 

दशकों से बंद है बुन्देलखण्ड की इक मात्र ग्लास फैक्ट्री

लॉकडाउन में वापस लौटे बुंदेलखंड के लाखो मजदूर

बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति द्वारा बरगढ़ ग्लास फैक्ट्री को शुरु करवाने के लिए सोसल मीडिया के माध्यम से चलाया जा रहा आन्दोलन | सोसल मीडिया फेसबुक ट्विटर में प्रधानमंत्री मोदी को  टैग कर डाली जा रही है पोस्ट |

बुन्देलखण्ड के जनपदों से बड़ी संख्या में श्रमिक दूसरे राज्यों और शहरों में मजदूरी करने के लिए जाते हैं। गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान में तो इनकी संख्या बहुतायत है।लॉकडाउन के बाद सभी वापस लौट आए हैं। एक बड़ी संख्या तो ऐसे मजदूरों की है जो सैकड़ों किलोमीटर का सफर पैदल तय करके पहुंचे हैं।

ऐसी फैक्ट्री जिसमे अकेले दम था की भुखमरी और पलायन रोकने का, लेकिन ऐसा हुआ क्या की शुरू होने से पहले ही बन्द हो गई फैक्ट्री |दशकों पुरानी एक कहानी बुन्देलखण्ड की इकलौती ग्लास फैक्ट्री की है जिसका शिलान्यास दशकों  बुंदेलखंड से बेरोजगारी मिटाने  हेतु सन 1987 में देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कर कमलों द्वारा  ,चित्रकूट जिले के बरगढ़ में हुआ था। लेकिन यह ग्लास फैक्ट्री शुरू होने से पहले ही कबाड़ में तब्दील हो चुकी है।      उम्मीद थी कि यह फैक्ट्री काम करनी शुरू कर देगी और हजारों बेरोजगार अपनी दो वक्त की रोटी कमा सकेंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

ग्लास फैक्ट्री क्षेत्र की बेरोजगारी दूर करने में मील का पत्थर साबित हो सकती है।  

1988 के बाद कई लोकसभा और विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं, सरकार बदली लेकिन बुदेलखंड की इस फैक्ट्री के लिए कुछ न बदला | 2014 , 2019 लोकसभा और 2017 विधानसभा चुनावो में  भाजपा बुंदेली जनादेश ने भी बुन्देलखण्ड की सभी सीटों पर भाजपा उम्मीदवारों को ही चुना है । यहाँ की जनता अपने क्षेत्र का विकास चाहती है । केंद्र और राज्य सरकार में यहाँ का प्रतिनिधित्व दिया । केंद्र और राज्य दोनों ही सरकारें एक साथ ध्यान नही देंगी तब तक बुन्देलखण्ड की इकलौती ग्लास फैक्ट्री यूंही बदहाल पड़ी रहेगी ।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर पिछले 6 वर्षो से  बुदेलखंडवासी बड़ी उम्मीद से देख रहे है |

बुन्देलखण्ड राष्ट्र समिति को सोसल मीडिया में मिल रहा भारी समर्थन , समिति के अध्यक्ष प्रवीण पाण्डेय ने बताया की जब तक बरगढ़ ग्लास फैक्ट्री शुरु नहीं होती लाखो मजदूरो के लिए लडाई जारी रहेगी| लाकडाउन समाप्त होते ही आन्दोलन को जमीनी स्तर पर और तेज किया जायेगा

साथ ही स्वर्णकार सूरज कुमार ABSSVSS प्रदेश मीडिया प्रभारी चित्रकूट ने बुंदेलखंड के सभी निवासियों को आस्वस्थ करते हुए संदेश दिया की हम आपके साथ है इस फैक्ट्री को शुरू करवाए जाने के लिए हमारा अथक प्रयास जारी रहेगा 

R. K. Soni


 *न्यूज़ चैनल*

Share To:

Post A Comment: