भारत में हिन्दू साधु संत तथा ब्राह्मणों की हत्यायें आखिर कब तक 

 सुनील मिश्रा केशवदास 

   नेशनल ब्यूरो चीफ 

  कलयुग की कलम 

     जम्मू कश्मीर

भारत की लोकतांत्रिक व्यवस्था में  हिन्दू साधु संत के साथ साथ ब्राह्मण हत्याओं का प्रचलन धीरे धीरे बढ़ता गया लेकिन इस समय सिलसिले वार लगभग हर दिन साधु संत और ब्राह्मण हत्यायें सुनाई और दिखाई दे रही है जिसके लिए आज तक कोई भी सरकार ठोस कदम नहीं उठा रही न तो इनकी सुरक्षा के लिए कोई ठोस कानून तैयार कर रही है इस विषय पर हमारे देश के प्रधानमंत्री  राष्ट्रपति सुप्रीम कोर्ट आदि आदि सभी मौन है देश के अंदर ब्राह्मण एवम् साधु संत कही जातीय हमले झेल रहे हैं तो कहीं धार्मिक हमले झेल रहे हैं यही लोकतांत्रिक  देश है जहाँ कश्मीर से कश्मीरी पंडित पलायन करने को मजबूर किये गये जिन्हें बेदर्दी से मारा गया उनकी बहन बेटियों की खुलेआम इज्जत लूटी गई बिहार में नक्सलियों के द्वारा तमाम जगह भूमिहार ब्राह्मणों का नरसंहार होते रहे और छिटपुट घटनाओं की कोई संख्या नहीं और यह लोकतांत्रिक सरकारें ब्राह्मण हत्याओं को देख देख कर धृतराष्ट्र की तरह अंधी बनकर शासन में मस्त हैं आखिर कारण क्या है

Share To:

Post A Comment: