आज अधिकारिक तौर पे  राष्ट्रीय अध्यक्ष महोदय के द्वारा बिहार को सम्मान देते हुए प्रदेश अध्यक्ष बिहार की घोषणा कर दी गई ।

बिहार इसके पहले चार वर्ष एक और संगठन के साथ अपने बहुमूल्य समय को देते हुए जितोड़ मेहनत करके व्हाट्सएप पे चलने वाले संगठन को धरातल पे उतर कर कार्य करने के अपने दृढ़ संकल्प के साथ आगे बढ़ता रहा और बिहार के ग्रुप में राष्ट्रीय कमिटी के प्रमुख पदाधिकारियों को रख कर उन्हे भी व्हाट्सएप से बाहर निकल कर धरातल पे उतर कर कार्य करने के संकेत देता रहा पर जिसे व्हाट्सएप में ही समस्त ब्रह्मांड दिखता हो उसके सामने आपके मेहनत का कोई मोल नही होता ।

आपकी बात को राष्ट्रीय कमिटी के वरीय पदाधिकारियों के सामने अनेकों बार मजबूती से रखने के मेरे स्वभाव राष्ट्रीय कमिटी को खलने लगी, बिहार सम्मान कर सकता है चाटुकारिता नही इसका एहसास मैंने अनेको बार राष्ट्रीय कमिटी को कराया ।

राष्ट्रीय कमिटी को गले में पट्टा बंधा हुआ ....चाहिए जो बिहार कभी नही हो सकता । 

साथियों जो मेरे से हो सकता था उसे मैंने करने का प्रयास किया, मर्यादा पुरुषोत्तम राम सिर्फ एक ही रहे अन्य कोई उदाहरण नही मिला, हो सकता है कि अन्जाने में मेरे से भी गलतियां हुई हों पर एक बात मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि किसी भी पीड़ित पत्रकार के मामले में मैं तब तक चैन से न बैठा जब तक मैंने अपने भाई को न्याय न दिलवाया । 

पत्थरों को काट कर रास्ता बनाने के संकल्प की प्रेरणा दशरथ मांझी से, किसी के सामने जीवन पर्यन्त घुटना न टेकने की जिद्द राणा प्रताप से, और अपनों के लिए, देश के लिए फांसी पे चढ़ने का शौक रखने वाले अशफाकउल्लाह खान, सुखदेव, राजगुरु और भगत सिंह से मिली । 

विरोधियों को अनेकों बार एहसास कराया हूं और जब तक जान है एहसास कराता रहूंगा " मैं आजाद हूं और आजाद ही रहूंगा " ।

आप सभी साथियों का एक बार पुनःअभिनन्दन करता हूं, आप सबको प्रणाम करता हूं और आशा करता हूं कि आप सभी का सहयोग व समर्थन मिलता रहेगा । 

         आपका
    विनोद पाण्डेय
     प्रदेश अध्यक्ष
         अपवा
    🌹🙏🏻🌹🙏🏻🌹
Share To:

Post A Comment: