मंडलायुक्त वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लॉक डाउन तीन आगे की रणनीति पर की चर्चा

KKK न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
        प्रयागराज
विकास कुमार पटेल

मण्डलायुक्त ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लाॅकडाउन-3 की आगे की रणनीतियों के संदर्भ में की बैठक

बाहर से आने वाले लोगो को जांच के पश्चात ही उन्हें उनथके गन्तव्य स्थान तक भेजे-मण्डलायुक्त, प्रयागराज

प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी जनप्रतिनिधियों से तालमेल स्थापित कर जाने क्षेत्र की समस्या-कमिश्नर

बाहर से आये लोग अपने बारे में स्वयं जानकारी दे-पुलिस महानिरीक्षक

मार्केट के बाहर स्थित एकल शाप ही होंगी ओपन-जिलाधिकारी

04 मई, 2020 प्रयागराज।

मण्डलायुक्त प्रयागराज मण्डल आर0 रमेश कुमार ने संगम सभागार में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लाॅकडाउन-3 की आगे की रणनीतियों के संदर्भ में बैठक की। उन्होंने कहा कि समस्या कोई भी हो, हम सब को मिल बाटकर हल करना है। ऐसी कोई समस्या नहीं है, जिसे हम और आप हल नहीं कर सकते है। उन्होंने कहा कि बाहर से लोग ट्रेनों एवं बसों से आ रहे है। आने वाले दिनों में इनकी संख्या में वृद्धि हो सकती है। अतः इन्हें आश्रय स्थल तक या उनके गन्तव्य तक जांच के पश्चात ही भेजे एवं जो निर्देश सरकार के प्राप्त है, उसका पूरी तरह से पालन सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि इसके लिए हमें लोगो को जागरूक करने की आवश्यकता है। मण्डलायुक्त ने कहा कि हमें निर्देश मिले है कि प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी मा0 सांसदों विधायको एवं अन्य जनप्रतिनिधियों से तालमेल स्थापित करें एवं उनसे यह जानकारी ले कि उनके क्षेत्र में क्या समस्या है।

पुलिस महानिरीक्षक श्री कवीन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि बाहर से आ रहे लोगो को यह समझाने की जरूरत है कि उन्हें किसी प्रकार अरेस्ट नहीं किया जा रहा है बल्कि थर्मल स्क्रीनिंग के लिए कुछ समय तक रोका जा रहा है, जिससे उनकी जांच हो सके और उनको हम सुरक्षित उनके गन्तव्य तक भेज सके ताकि यातायाता या अन्य प्रशासनिक समस्या न हो पाये, उन्होंने स्थानीय स्तर पर कार्यरत पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को अपने स्तर से समस्या को हल करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि लोगो को इस प्रकार जागरूक करने की आवश्यकता है कि जो भी लोग बाहर से चले आ रहे वह स्वयं अपने आने की सूचना निगरानी समितियों को दे, जिससे उनका जांच हो सके एवं उनसे फैलने वाले कोरोना संक्रमण हो रोका जा सके। उन्होंने कहा कि हमारे जिले की बैरिकेटिंग व्यवस्था सबसे उत्तम है एवं हमें इसे इसी प्रकार बनाये रखने की जरूरत है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से अधिकारियों से प्रोटोकाल का पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से उर्जावान बने रहने की अपील की।

जिलाधिकारी  भानु चंद्र गोस्वामी ने सभी अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो भी व्यक्ति आये, इसकी सूचना कंट्रोल रूम में आनी चाहिए तथा कोई भी व्यक्ति बिना जांच की जिले से बाहर नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि जो निगरानी समिति बनी है वो अलग-अलग न होकर प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम होगी तथा एसडीएम एवं सीओ के संयुक्त मार्गदर्शन में काम करेगी। उन्होंने कहा कि दुकानो के खोलने को लेकर दिशा-निर्देश स्पष्ट है। किसी को भी इसमें कन्फ्जूयन नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रमुख मार्केट के बीचोबीच की दुकान नहीं खुलेगी। मार्केट से बाहर एकल साॅप को खोलने की इजाजत दी गयी है। उन्होंने कहा कि लोगो को जरूरत के हिसाब से ही निकलने की छूट प्रदान करें ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन लाॅकडाउन-3 में भी पूर्व की भांति चलता रहें।

जिलाधिकारी ने निगरानी समिति में रिटायर्ड अधिकारियों, एनएसएस, एनसीसी, सिविल डिफेंस, अपराध नियंत्रण के लोगो को रखे जाने की बात की। उन्होंने कहा कि ग्राम सभा में बाहर से आये लोगो की सूचना यही निगरानी समिति में कार्यरत लोग एसडीएम को देंगे। यह समितियां जांच करेगी कि कौन व्यक्ति बाहर से आया है। इस कार्य में थाना प्रभारी को आवश्यकता पड़ने पर ही जाना हो सकता है। पूर्व की भांति आशा कार्यकत्री एवं लेखपाल निगरानी समिति के अपने दायित्वों को निर्वहन करते रहेंगे। बाहर से आये लोगो की होम क्वारंटाइन किए जाने की सूचना सम्बन्धित अधिकारी को प्रदान करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि ग्राम सभाओं में बने कम से कम दो आश्रय स्थल को व्यस्थित एवं साफ-सुथरा रखा जाये, जिससे कि आवश्यकता पड़ने पर तत्काल इनका उपयोग हो सके। उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि कोई भी व्यक्ति पैदल अपने गंतव्य तक नही जायेगा। यह हमारी आप कि जिम्मेदारी है कि उनके जाने की व्यवस्था की जाये।

बैठक में अपर मण्डलायुक्त प्रशासन-भगवान शरण, नगर आयुक्त रवि रंजन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद रहे।


Share To:

Post A Comment: