अटल आवास में मुसीबत बना नगरपालिका का पेयजल सप्लाई कार्य
संवाददाता राजेश सिन्हा
कोरिया -देश जहां कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है।वंही छोटे-मोटे मजदूरों पर इसका विशेष रूप से असर पड़ा है। यहां तक कि लॉकडाउन होने की वजह से मजदूर तबके के लोग भुखमरी की कगार पर खड़े हो चुके हैं ।वही आपको बता दें कि मनेन्द्रगढ़ नगरपालिका के द्वारा मजदूरों की बस्ती अटल आवास में पेजल पूर्ति दुरस्त कराने के नाम पर मजदूर तबके के लोगों के नल कनेक्शन तक काट दिए गए । यहां तक कि घरों के सामने एक 1 फीट गड्ढे भी खोद दिए गए परंतु गरीब बस्ती में रहने वाले लोगों को ना तो पानी मिला पा रहा ना ही वहां दी जाने वाली वह सभी व्यवस्थाएं जिसके लिए नगर पालिका ने गरीबों के घरों के सामने एक 1 फीट गड्ढे खुदवा दिए है । सबसे बड़ी बात तो तब सामने आई जब नगर पालिका ने अटल आवास में रहने वाले लोगों के घरों के सामने 1 फीट गहरा गड्ढा खोद वाकर महीनों अटल आवास की ओर देखने तक नहीं गए कि आखिर घरों के सामने खुले गड्ढे किसको कितनी परेशानी दे रहे हैं
।वहीं अब सवाल यह खड़ा होता है कि आखिर नगर पालिका के जिम्मेदार अधिकारी इतने बेपरवाह गरीब बस्ती पर ही क्यों नजर आ रहे हैं  । जहां महीनों से खोदे गड्ढे लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। वहीं यदि हम स्वच्छता अभियान की बात करें तो अटल आवास के चारों तरफ नालियों की ना तो आज तक सफाई हुई नहीं कीटनाशक दवाओं का छिड़काव जबकि नगर पालिका मनेन्द्रगढ़ के सफेदपोशधारी सोशल मीडिया में दो चार जगह घूम कर भले ही वाह वाही लूटने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हो। वहीं अब अटल आवास के निवासियों की आस अब जिले के जिम्मेदार कुछ अधिकारियों पर टिकी है कि आखिर कब गरीबों की बस्ती पर जिले के जिम्मेदार अधिकारी ध्यान देंगे या फिर सरकार के दावों पर इसी तरह नगरपालिका के जिम्मेदार अधिकारी पानी फेरते रहेंगे ।। और कोरोना काल मे शहर में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव के नाम पर कुछ ही जगह पर छिड़काव कराकर सरकारी धन को ठिकाने लगाते रहेंगे
Share To:

Post A Comment: