भगतसिंह सेना के जिलाध्यक्ष एक्टर विनय आमेरिया को मनमाने तरीके से किया गया गिरफ्तार

कलयुग की कलम/ योगेश योगी

जेवर नगर पंचायत  गौतमबुद्धनगर नोयडा में शहीद भगत सिंह चौंक पर नगर पंचायत ने बिना किसी नोटिस के चौंक पर स्थापित शहीद भगत सिंह की प्रतिमा को हटाया जिसका विरोध शहीद भगत सिंह सेना गौतमबुद्धनगर जिलाध्यक्ष विनय आमेरिया ने किया, विनय आमेरिया एक एक्टर के साथ-साथ समाजसेवी हैं जो हमेशा से देशभक्ति के प्रति लोगों को जागरूक करते हैं उनके कई सारे देशभक्ति के गाने यूट्यूब पर हिट हुए हैं। जब भगत सिंह की प्रतिमा और वँहा पर लगे साज सामान को हटाया गया तब विनय शूटिंग के सिलसिले में बाहर थे, उन्होंने सरकार के इस कृत्य का विरोध ऑनलाइन वीडियों शेयर कर दर्ज करवाया था। अब प्रश्न ये उठता है कि सरकार एक तरफ देशभक्ति का दिखावा करती है और दूसरी तरफ देशभक्ति के लिए जागरूक कर रहे लोगों पर अत्याचार करती है साथ ही शहीदों का अपमान करती है यह उचित नहीं। हालाँकि विनय आमेरिया को जान से मारने की धमकी दी गई थी जिसकी लिखित सूचना उन्होंने सम्बंधित थाने में दी थी, जिस पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हो पाई थी। उलटे आज विनय आमेरिया को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया उन पर किन धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है । विनय आमेरिया की गिरफ्तारी से  यह प्रश्न तो उठते हैं कि आखिर उनकी गिरफ्तारी की वजह क्या है? साथ ही किसके इशारे पर उनको गिरफ्तार किया गया है? क्या जिनके खिलाफ विनय आमेरिया ने जान से मारने का आरोप लगाया था उन्हीं खास पार्टी के रसूखदारों के कहने पर ऐसा किया गया? या फिर सरकार की मंशा ये है कि जो देशभक्ति की और भगत सिंह की बात करेगा उन सभी का दमन किया जाएगा? 

राजनीतिक लोगों की चुप्पी  विनय आमेरिया के साथ और कितना जुल्म करती है यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।



Share To:

Post A Comment: