जिलाधिकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अस्थाई जिलो का किया निरीक्षण


KKK  न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
         प्रयागराज
 विकास कुमार पटेल

जिलाधिकारी प्रयागराज भानु चंद्र गोस्वामी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज के साथ संयुक्त रूप से कोविड-19 के सुरक्षा के दृष्टिगत बनाए गए अस्थाई जेल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जेल अधीक्षक ने अवगत कराया कि जेल को पूरी तरह से विसंक्रमित कर दिया गया है।उन्होंने बताया कि वर्तमान में बैरक नंबर एक में कुल 96 कैदी तथा  बैरक नंबर दो में कुल 94 कैदी निरुद्ध हैं। निरीक्षण के दौरान बैरकों की साफ-सफाई संतोषजनक पाई गई। इस बारे में जानकारी लेने पर कैदियों ने बताया कि बैरकों में प्रतिदिन दो बार साफ सफाई कराई जाती है। कैदियों ने यह भी बताया कि नाश्ता व भोजन आदि पर्याप्त मात्रा में निश्चित समय पर उपलब्ध कराया जाता है। निरीक्षण के दौरान कैदियों से उनके स्वास्थ्य जैसे खांसी, बुखार या अन्य परेशानी के बारे में जानकारी भी ली गई। जिस पर कैदियों द्वारा बताया गया कि उन्हें अभी किसी प्रकार की परेशानी नहीं है फिर भी मौके पर उपस्थित जेल अधीक्षक को समय-समय पर कैदियों की थर्मल स्कैनिंग कराए जाने के लिए निर्देशित किया गया। बैरकों के हाते में कैदियों के लिए शौचालय व स्नानागार भी बनाया गया है। निरीक्षण के दौरान बैरक के सामने लाइट हेतु ऊपर से लगाए गए तार को देखकर असंतोष व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि यहां तत्काल वायरिंग करा कर समुचित रूप से सुरक्षित व्यवस्था बनाई जाए। जिलाधिकारी ने जेल अधीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रतिदिन कम से कम 2 बार ब्लीचिंग युक्त घोल से पूरे बैरक को सैनिटाइज करवाया जाए। सभी कैदियों को आवश्यक रूप से मास्क उपलब्ध कराया जाए तथा सोशल डिस्टेंसिंग का समुचित अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। जेल अधीक्षक ने बताया कि सभी कैदियों को निर्धारित मीनू के अनुसार अलग-अलग प्रकार का खाना उपलब्ध कराया जाता है उन्होंने यह भी बताया कि बैरक नंबर दो के सामने ही बने बैरक नंबर 3 को अस्थाई जेल के रूप में उपयोग किए जाने हेतु समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं जिसमें आज से निरुद्ध होने वाले कैदियों को रखा जाएगा। इस संबंध में जेल अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि सुरक्षा की दृष्टि से समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं तत्काल पूर्ण कराना सुनिश्चित करें तथा कोविड-19 हेतु जारी प्रोटोकॉल का पूर्णरूपेण अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही ना बरती जाए।



Share To:

Post A Comment: