मंडलायुक्त ने सरोजिनी नायडू बाल चिकित्सालय का किया निरीक्षण


KKK  न्यूज़ ब्यूरो रिपोर्ट
         प्रयागराज
 विकास कुमार पटेल

मण्डलायुक्त ने सरोजिनी नायडू बाल चिकित्सालय, स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल तथा सलोरी एसटीपी का किया निरीक्षण

मरीजों से अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं के बारे में मण्डलायुक्त ने ली जानकारी

अस्पतालों के आसपास नियमित रूप से कूड़ा हटाये जाने तथा अस्पतालों को नियमित रूप से विसंक्रमित कराने के मण्डलायुक्त ने दिए निर्देश

अस्पतालों में आने वाले लोगो को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ व्यवस्थित रूप से सुविधा प्रदान की जाए-मण्डलायुक्त

प्रयागराज में स्थापित सभी एसटीपी को ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम से जोड़े जाने के कार्य को ससमय पूरा करायें-कमिश्नर

10 जून, 2020 प्रयागराज।

मण्डलायुक्त प्रयागराज मण्डल  आर रमेश कुमार ने आज सरोजिनी नायडू बाल चिकित्सालय, स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल तथा सलोरी एसटीपी का निरीक्षण किया। अस्पताल  के निरीक्षण के दौरान संयुक्त विकास आयुक्त  शिव कुमार पांडे अपर आयुक्त प्रथम  भगवान स्वरूप, मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य  एस0पी0 सिंह के साथ अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित थे। मण्डलायुक्त ने बाल चिकित्सालय में ओपीडी, इमरजेंसी, टीकाकरण कक्ष, कोविड-19 ओपीडी, ड्रग स्टोर, पोषण पुनर्वास केंद्र, एसएनसीयू वार्ड आदि का निरीक्षण करते हुए वहां की जानकारी भी ली तथा वार्डों में भर्ती मरीजों से अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सुविधाओं की जानकारी ली। टीकाकरण कक्ष में  शुभी सिंह ने बताया कि वह अपनी पुत्री का नियमित टीकाकरण अस्पताल में कराती है। आज उनकी पुत्री को जेई का टीका लगाया जा रहा है। पोषण पुनर्वास केंद्र में प्रतापगढ़ की ग्वावी देवी, बांदा की संगीता तथा फतेहपुर की महिला से उनके बच्चों के बारे में जानकारी ली जिनका इलाज यहां चल रहा है। महिलाओं ने बताया की अस्पताल द्वारा निश्चित समय पर डाइट प्लान के अनुसार भोजन व दवाइयां उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसके बाद वार्ड-5 में भर्ती बच्चों की माताओं से उनके बच्चों के बारे में जानकारी ली। बाल चिकित्सालय के पिछले गेट पर कूड़ा एकत्रित होने की शिकायत मिलने पर मंडलायुक्त ने नगर आयुक्त को सभी अस्पतालों के आसपास से नियमित रूप से कूड़ा हटाये जाने तथा अस्पतालों को नियमित रूप से विसंक्रमित कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने बाल चिकित्सालय के प्रभारी को भी निर्देशित किया कि अस्पताल के प्रांगण तथा आसपास के क्षेत्र में अवांछित पौधे, घास-फूस आदि की नियमित रूप से कटिंग व साफ-सफाई करवाएं।

मण्डलायुक्त एसआरएन अस्पताल करते हुए ओपीडी के सामने अव्यवस्थित खड़े लोगों को देखकर नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देशित किया कि सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ व्यवस्थित रूप से सुविधा प्रदान की जाए साथ ही पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के माध्यम से आने वाले मरीजों व तीमारदारों को लगातार कोरोना वायरस के प्रति जागरूक तथा इससे बचाव हेतु निर्धारित नियमों के समुचित पालन कराए जाने हेतु सजग किया जाए। मण्डलायुक्त ने यहां पर ट्राईएज ट्रामा इमरजेंसी, न्यूरो ट्रामा, आर्थो ट्रामा तथा आईसीयू वार्ड का भी निरीक्षण किया। मण्डलायुक्त ने भर्ती मरीजों से उनका हाल जाना तथा अस्पताल द्वारा फ्री दवाएं आदि उपलब्ध कराए जाने की जानकारी ली तथा अस्पताल प्रशासन को निर्देशित किया कि चिकित्सकों, सहायक स्टाफ, सफाई कर्मियों आदि की उचित रूप से ड्यूटी लगाते हुए मरीजों को सभी मूलभूत व आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। मण्डलायुक्त ने एसआर एन अस्पताल में बनाए जा रहे सुपर स्पेशिलिटी ब्लॉक का भी निरीक्षण किया।

मण्डलायुक्त ने सलोरी एसटीपी का निरीक्षण करते हुए रिकार्ड रूम में परियोजना के बारे में जानकारी ली तथा पूरे प्लांट में घूम कर संचालित कार्यो को देखा। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों से प्रयागराज में कुल संचालित एसटीपी, उनकी क्षमता, मॉनिटरिंग, कार्यरत स्टाफ, प्रयोग की जाने वाली तकनीक, बिजली, परियोजना के विस्तार आदि के बारे में विस्तृत चर्चा की तथा निर्देशित किया कि डंपिंग ग्राउंड का चयन कर प्लांट से निकलने वाले स्लज का निस्तारण सुनिश्चित किया जाए तथा स्लज को कृषि अथवा औद्योगिक क्षेत्रों में प्रयोग किए जाने हेतु अध्ययन कर कार्य योजना बनाई जाए। उन्होंने क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी  जे०बी० सिंह को निर्देशित किया कि शोधन के उपरांत नदी में छोड़े वाले जल का परीक्षण कराया जाए। मण्डलायुक्त ने प्रयागराज में स्थापित सभी एसटीपी को ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम से जोड़े जाने के कार्य को ससमय पूरा किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यहां उपलब्ध अतिरिक्त जमीन पर फलदार वृक्षों का रोपण कराया जाए जिससे सरकार की मंशा के अनुरूप वृक्षारोपण के कार्यक्रम में प्रगति के साथ वातावरण को स्वच्छ रखने में भी सहायक होगा। एसटीपी के निरीक्षण के दौरान संयुक्त विकास आयुक्त श्री शिव कुमार पांडे, अपर आयुक्त प्रथम  भगवान स्वरूप, महाप्रबंधक, गंगा प्रदूषण नियंत्रण ईकाई  ए0पी0 यादव तथा क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी श्री जे०बी० सिंह आदि उपस्थित थे।

Share To:

Post A Comment: