15 जुलाई तक नही मिला वेतन तो 'नो पेमेंट नो वर्क' की तर्ज पर करेंगे कलमबंद हड़ताल

मध्यप्रदेश पंचायत सचिव संगठन ढीमरखेड़ा ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता कर दी जानकारी

कलयुग की कलम "अंकित झारिया"

ढीमरखेड़ा :- ग्राम पंचायतों में पदस्थ पंचायत सचिवों को बीते 5 महीने से उनके वेतन का भुगतान नही मिल रहा है। वेतन न मिलने से पंचायत सचिव परेशान हैं। शुक्रवार को मध्यप्रदेश पंचायत सचिव संगठन ढीमरखेड़ा ने जनपद सभागार में प्रेसवार्ता आयोजित कर यह बात मीडिया के सामने रखी है। पंचायत सचिवों का कहना है कि अगर उन्हें 15 जुलाई तक वेतन का भुगतान नही मिलता है तो प्रदेश संगठन के नेतृत्व में ढीमरखेड़ा सचिव संगठन कलम बंद हड़ताल कर विरोध प्रदर्शन करेंगे।

ढीमरखेड़ा पंचायत सचिव संगठन ब्लॉक अध्यक्ष अनिल दीक्षित ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना महामारी के दौरान पंचायत सचिव  ग्रामीण स्तर पर महत्वपूर्ण भूमिका रहे हैं। सरकार ने सचिवों को कोरोना योद्धाओं का दर्जा भी दिया है। लेकिन बीते 5 महीने से वेतन नही मिलने से परिवार का भरण पोषण करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। समय से वेतन ना मिलने के कारण पंचायत सचिवो को  घर चलाना मुश्किल हो गया है।गाड़ी और मकानों की किश्ते जमा नही हो पा रही हैं। जिससे सभी पंचायत सचिव परेशान हैं।पंचायत सचिवों ने कहा कि बीते 5 महीने का वेतन भुगतान करने सरकार बजट आवंटन जारी करे, साथ ही नियमित भुगतान के लिए गूगल पे एकाउंट की व्यवस्था के निर्देश जारी करे। 15 जुलाई तक वेतन नही मिलता है तो प्रदेश संगठन के नेतृत्व में सचिव संगठन नो पेमेंट नो वर्क की तर्ज पर कलमबंद हड़ताल कर विरोध प्रदर्शन करेगा।

इस दौरान ब्लॉक अध्यक्ष अनिल दीक्षित, आदित्य भूषण दुबे,बसरुलहक मंसूरी, जगदीश पटेल,काशीराम मरावी,कमलेश हल्दकार, देवराज पांडे, लखन बागरी, वीरेंद्र प्यासी,मथुरा तिवारी, विनोद बागरी, राकेश साकेत,राजेश पटेल, सोने सिंह, उत्तमचंद पटेल,अशोक गोहलानी सहित अन्य सचिव उपस्थित रहे।

Share To:

Post A Comment: