भाजपा की वर्चुअल रैली की तर्ज़ पर .....

“शिवराज सरकार में वर्चुअल बैंक डकैती की इन्दौर से ऐतिहासिक शुरूवात “

शिवराज सरकार कीं बहुउद्देशीय योजना “वर्चुअल आत्मसमर्पण बहुउद्देशीय योजना”ऑन लाइन”लागू”

“म.प्र.में पुलिस ने भी अपनायी वर्चुअल जॉंच पद्धति “

“इंटेलिजेंस सिस्टम भी वर्चुअल (आभासी)”

“नया मध्यप्रदेश माफियाओ के सरग़ना एंव डकैतों और बैंक लुटेरों का वर्चुअल म.प्र.”

कलयुग की कलम 

इन्दौर,म.प्र. में भाजपा और शिवराज की वर्चुअल रैली (आभासी एंव अवास्तविकता वाली रैलियॉं) ने ज़बरदस्त संदेश डकैतों को दिया हैं की देश विदेश के समस्त  मोस्टवांटेड लुटेरे गैंगस्टर,डकैत म.प्र. के मुख्यमंत्री को अपना वर्चुअल संरक्षणदाता मुख्यमंत्री मानकर प्रदेश में बिना रोक टोक के अपराध करने के बाद विश्राम भी कर सकते हैं।

भाजपा और शिवराज की वर्चुअल रैली से सीख लेकर इन्दौर में वर्चुअल बैंक डकैती सबसे व्यस्त चौराहे पर हो गई ।वर्चुअल रूप में डकैत आये फिर लूट कर ग़ायब हो गये।लूट के बाद वर्चुअल पुलिस आयी जॉंच करके वो भी वर्चुअल हो गयी।जैसा वर्चुअल सरकार वैसी ही वर्चुअल पुलिस म.प्र. की साबित हो रही हैं।

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने आरोप लगाया हैं की भाजपा की सरकार का झुठ और धोखे से जन्म हुआ हैं इसलिए अब प्रदेश में राम राज की कल्पना करना भी अपराध की श्रेणी में माना जाएगा क्योंकि अब अपराधियों का रावण राज आ गया हैं।अगर सच बोला गया तो भाजपा की शिवराज सरकार दबंग अपराधी एंव मोस्टवांटेड  डकैतों को बुलाकर ठिकाने लगा देंगी ।

म.प्र. में पुलिस का कार्य तो शिवराज ने आम जनता से मास्क न पहनने के कारण सौ रूपये का चालान बनाना निर्धारित कर रखा हैं।डकैत और भाजपा के संरक्षण वाले गुंडों और माफ़िया को देखकर तो पुलिस अधिकारियों को साँप सूँघ जाता हैं।सीएम शिवराज सिर्फ़ नाम के मुख्यमंत्री हैं सारी सत्ता तो माफ़िया सरगना  एंव कुख्यात अपराधी ही चला रहे हैं।

शिवराज सरकार शीघ्र ही बहुउद्देशीय योजना का शुभारंभ गृहमंत्री के मार्गदर्शन में करने जा रही हैं ।म.प्र.सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का नाम हैं “वर्चुअल आत्मसमर्पण बहुउद्देशीय योजना” इस योजना के अन्तर्गत ख़ूँख़ार से ख़ूँख़ार अपराधी ऑनलाइन वर्चुअल सिस्टम के अनुसार आत्मसमर्पण कर सकता हैं ।जिसमें निम्न सुविधाएँ उपलब्ध करायी जाएगी:-

1- आत्मसमर्पण के पूर्व सभी प्रमुख धार्मिक स्थलो पर वीआईपी दर्शन की सुविधा प्रदान की जाएगी ।

2- संपूर्ण म.प्र. में कही भी आने जाने के लिए शासकीय दर पर वाहन सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी।

3- पुलिस अपराधी को न पहचाने इसके लिए विशेष गाइडलाइन पुलिस को जारी की जाएगी ।

4- यह सुविधा भी रहेगी की आत्मसमर्पण के पश्चात यह आवश्यक नहीं की कोर्ट के सामने प्रस्तुत किया जाये।क़ानून का यह नियम भी शिथिल कर दिया गया हैं।हथकड़ी नहीं लगाई जाएगी।

5-यह सुविधा भी अपराधीयों को उपलब्ध करायी जाएगी की प्रायवेट सिक्योरिटी गार्ड के समक्ष भी आत्मसमर्पण की सुविधा रहेगी।पुलिस को हिदायत रहेगी की हल्की -फुल्की धक्कामुक्की कर सकती हैं।पुलिस गली गलौज सिर्फ़ म.प्र. की जनता से ही कर सकेगी ।यह साफ़ तौर पर निर्देश जारी हैं।

विशेष शर्त:- म.प्र. की सीमाओं से बाहर तक वीआईपी मूवमेंट के साथ म.प्र. की बार्डर तक छोड़ने की सौ प्रतिशत ग्यारंटी दी जाएगी।

इस योजना के समस्त लाभ भाजपा नेताओं एंव शिवराज सरकार के लिए सुरक्षित हैं।जनहित में जारी।

राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल

Share To:

Post A Comment: